Skip to main content
Follow Us On
Hindi News, India News in Hindi, हिंदी समाचार, Latest News in Hindi, Breaking News in Hindi, ताजा ख़बरें, News9india

यूपी के अमेठी में बनेंगे 5 लाख AK 203 राइफल, केंद्र ने दी मंजूरी

5 हजार करोड़ रुपए की इस डील की आधिकारिक घोषणा सोमवार को पीएम मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच मुलाकात के बाद की जाएगी।

नई दिल्ली: केंद्र की मोदी सरकार ने अमेठी में 5 लाख एके 203 राइफल बनने की मंजूरी दे दी है। 5 हजार करोड़ रुपए की इस डील की आधिकारिक घोषणा सोमवार को पीएम मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच मुलाकात के बाद की जाएगी। 


बताते चलें कि समझौते के तहत भारत और रूस के जॉइंट वेंचर में इन राइफलों का उत्पादन उत्तर प्रदेश के अमेठी में किया जाएगा।  पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्यॉरिटी (CCS) ने बुधवार को इस डील पर मुहर लगाई। इससे पहले डिफेंस ऐक्वजिशन काउंसिल (DAC) ने भी इसे अपनी मंजूरी दे दी थी। 


सूत्रों ने बताया, ''रक्षा उत्पादन के मामले में देश को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में बड़े प्रयास के तहत सरकार ने अमेठी के कोरवा में 500000 से अधिक AK-203 असॉल्ट राइफलों के उत्पादन की योजना को मंजूरी दी है।''

बता दें कि पिछले साल रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के मॉस्को दौरे पर दोनों देशों ने समझौते को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी थी। जॉइंट वेंचर इन राइफलों के निर्यात की संभावना भी तलाशेगा।  7.62 X 39mm कैलिबर AK-203 राइफल इंसास राइफल की जगह लेंगे।


AK-203 असॉल्ट राइफलों की रेंज 300 मीटर है। यह हल्की होने के साथ मजबूत और उपयोग में आसान होती है। इनसे सैनिकों की युद्ध क्षमता में वृद्धि की उम्मीद है।


आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर बड़ा सड़क हादसा, तीन लोगों की मौत

हादसे जानकारी मिलते ही यूपीडा कर्मी मौके पर पहुंचे। उन्होंने कार में फंसे चारों युवकों को किसी तरह बाहर निकाल कर एंबुलेंस से राजकीय मेडिकल कॉलेज भेजा। यहां डॉक्टरों ने तीन युवकों को मृत घोषित कर दिया, जबकि गंभीर रूप से घायल एक युवक का इलाज शुरू किया। घटना के बाद चालक डीसीएम लेकर फरार हो गया।

लखनऊ: आगरा लखनऊ एक्सप्रेस वे पर एक सड़क हादसे में तीन लोगों की मौत होने की खबर है। जानकारी के मुताबिक, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर ठठिया थाना क्षेत्र स्थित बलनापुर पट्टी गांव के सामने भीषण हादसे में दिल्ली के तीन युवकों की मौत हो गई।


इस हादसे में  एक शख्स के घायल होने की भी खबर है। घायल युवक को राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार रात आगरा से लखनऊ की ओर जा रही कार को तेज रफ्तार डीसीएम ने पीछे से टक्कर मार दी। टक्कर से कार के परखचे उड़ गए। 

हादसे जानकारी मिलते ही यूपीडा कर्मी मौके पर पहुंचे। उन्होंने कार में फंसे चारों युवकों को किसी तरह बाहर निकाल कर एंबुलेंस से राजकीय मेडिकल कॉलेज भेजा। यहां डॉक्टरों ने तीन युवकों को मृत घोषित कर दिया, जबकि गंभीर रूप से घायल एक युवक का इलाज शुरू किया। घटना के बाद चालक डीसीएम लेकर फरार हो गया।



हादसे में मृतकों की पहचान के लिए पुलिस ने पड़ताल की तो उनकी जेब से अलग-अलग आईडी मिलीं। सभी की आईडी अलग-अलग महकमों की हैं। एक आईडी सतेंद्र कुमार नाम की है, जिस पर दिल्ली पुलिस में हेड कांस्टेबल दर्ज है। दूसरी आईडी पूर्वी दिल्ली के जिला मजिस्ट्रेट कार्यालय की ओर से जारी की गई है, इसमें त्रिलोक पुरी, नई दिल्ली के गुंजन का नाम दर्ज है। तीसरा आधार कार्ड मिला, इसमें घड़ोली एक्सटेंशन ब्लॉक-ए राजवीर कॉलोनी मयूर विहार फेस 3 पूर्वी दिल्ली के जितेंद्र सिंह का नाम है। 

हादसे में घायल का नाम परमवीर बताया जा रहा है। ठठिया थाना प्रभारी केशव वाजपेई के अनुसार, पहचान पत्रों के आधार पर परिजनों से सम्पर्क करने की कोशिश कर रही है।


11 दिसंबर से प्रतिदिन 1 घंटे दूरदर्शन पर चलेगा भोजपुरी कार्यक्रम: अनुराग ठाकुर

केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने एक बड़ा वादा भी किया। उन्होंने कहा कि दूरदर्शन के प्लेटफॉर्म पर पहली बार भोजपुरी में कार्यक्रम चलेगा। हम आज घोषणा कर रहे हैं कि 11 तारीख से दूरदर्शन पर 1 घंटे का कार्यक्रम भोजपुरी में शुरू होने जा रहा है।

गोरखपुर: आज केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने गोरखपुर में अर्थ स्टेशन का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पहले यहां पर अगर कुछ बनता था तो उसको रिकॉर्ड कर लखनऊ भेजा जाता था लेकिन अब आपको लखनऊ भेजने की जरूरत नहीं पड़ेगी। आपके कार्यक्रम अर्थ स्टेशन से लखनऊ और देश के अलग-अलग केंद्रों के साथ जोड़ने का काम आज से शुरू हो गया है।

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने एक बड़ा वादा भी किया। उन्होंने कहा कि दूरदर्शन के प्लेटफॉर्म पर पहली बार भोजपुरी में कार्यक्रम चलेगा। हम आज घोषणा कर रहे हैं कि 11 तारीख से दूरदर्शन पर 1 घंटे का कार्यक्रम भोजपुरी में शुरू होने जा रहा है।

इस मौके पर सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर का धन्यवाद करते हुए कहा कि केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के 37 वर्षों के इंतज़ार को दूर करते हुए अर्थ स्टेशन को राष्ट्र को समर्पित किया। मैं इसके लिए पूर्वी उत्तर प्रदेश की 5 करोड़ जनता की तरफ़ से उनका आभार व्यक्त करता हूं।


मिशन यूपी: केशव मौर्या का विवादित बयान, कहा-'BJP ने लुंगी और जालीदार टोपी वाले गुंडों से निजात दिलाई'

उन्होंने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले लुंगी छाप गुंडे घूमते थे। जालीदार टोपी लगाए बंदूक-गोली लिये व्यापारियों को डराने का काम करते थे। आपकी जमीनों पर कब्जा करना और कब्जे की शिकायत करने भी नहीं देते थे। शिकायत पर धमकी देते थे। ऐसे लोगों से भाजपा ने निजात दिलाई है। आने वाले चुनाव में यह सब कुछ याद रखना है।

प्रयागराज: अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं और सूबे के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या एक के बाद एक विवादित बयान देकर राजनीतिक गलियारों में हलचल बढ़ा रहे हैं और अपनी पार्टी को असमंजस में डाल रहे हैं।

ताजा विवादित बयान उन्होनें प्रयागराज में व्यापारियों के सम्मेलन में दिया। उन्होंने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले लुंगी छाप गुंडे घूमते थे। जालीदार टोपी लगाए बंदूक-गोली लिये व्यापारियों को डराने का काम करते थे। आपकी जमीनों पर कब्जा करना और कब्जे की शिकायत करने भी नहीं देते थे। शिकायत पर धमकी देते थे। ऐसे लोगों से भाजपा ने निजात दिलाई है। आने वाले चुनाव में यह सब कुछ याद रखना है। 

केशव ने कहा कि यहां प्रयागराज का सिविल लाइंस इलाका पहले शांतिपूर्ण माना जाता था। सपा की सरकार में उसे भी अशांत करने की कोशिश की गई। समाजवादी पार्टी के गुंडे गाड़ियां लेकर हथियारों के साथ घूमते थे।

उन्होंने आगे कहा कि जब से भाजपा की सरकार बनी है, ये गुंडे दिखाई नहीं दे रहे हैं। यह व्यवस्था इसलिए बदली क्योंकि आपने कमल का फूल खिलाने का काम किया है। केशव ने कहा कि सपा में केवल गुंडे माफिया ही भरे हैं। अगर माफिया-गुंडों को निकाल दें तो सपा बचेगी क्या? 


केशव ने कहा कि भाजपा व्यापारियों, गरीबों, किसानों, नौजवानों सभी के लिए काम कर रही है। लेकिन हम सुरक्षित ही नहीं रहेंगे तो हमारे प्रदेश का भविष्य सुरक्षित कैसे रहेगा। 

सपा के कई दलों से गठबंधन पर भी निशाना साधते हुए केशव ने कहा कि सपा के साथ लोकदल हो या परलोग दल। गठबंधन को लेकर तमाम बयान आते हैं। लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा औऱ लोकदल सभी मिल गए लेकिन भाजपा को रोक नहीं पाए थे। 

केशव ने कहा कि 2012 में भी लोगों के दिल में भाजपा थी लेकिन कई बार लोगों को लगता था कि बीजेपी सरकार नहीं बना पाएगी। हमारे मतदाताओं ने कभी सपा को हराने के लिए तो कभी बसपा को हराने के लिए मतदान किया। अब सभी को मालूम है कि ये सभी मिल जाएं तब भी भाजपा जीतेगी। हमारी तीन सौ से ज्यादा सीटें आएंगी और 2022 में फिर से सरकार बनाएंगे।


नीतीश कुमार ने की BJP महिला विधायक की 'सुंदरता' की तारीफ, लालू की बेटी रोहिणी ने ऐसे किया कटाक्ष

उन्होंने आरजेडी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, 'महिलाओं की सुंदरता ही निहारता रह गया। तीन नंबरी पार्टी का मुखिया बिहार को फिसड्डी राज्य का दर्जा जो दिला दिया।' रोहिणी आचार्य यहीं नहीं रुकीं। उन्होंने एक और ट्वीट किया, जिसमें लिखा कि 'रंगीन मिजाजी के चर्चे सरेआम हैं, इस उम्र में भी चच्चा बदनाम है।'

पटना: एक महिला बीजेपी विधायक की सुंदरता की तारीफ करके बिहार के सीएम नीतीश कुमार विपक्षियों के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल, बिहार में  बीजेपी की विधायक निक्की हेम्ब्रम की 'सुंदरता' की तारीफ को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विपक्ष के निशाने पर हैं। खुद निक्की हेम्ब्रम मुख्यमंत्री के व्यवहार से मर्माहत हैं, उन्होंने मीडिया से कहा कि सीएम ने जो उनसे कहा उसे मैं सार्वजनिक तौर पर दोहरा नहीं सकती।

महिला विधायक ने कहा कि यह मेरी मर्यादा को ठेस पहुंचाने वाला है और मैंने पार्टी फोरम में अपनी बात कह दी है। वहीं, आरजेडी ने इसे लेकर नीतीश कुमार पर तंज कसा है, तो लालू यादव की बेटी रोहिणी आचार्य ने भी इस मौके को लपक लिया।

आरजेडी के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से लिखा गया कि 'जानें CM नीतीश कुमार का एक महिला भाजपा विधायक पर 'तुम इतनी सुंदर हो' कमेंट कैसे तूल पकड़ रहा?' इस बात को लालू यादव की बेटी और आगे तक ले गईं।

उन्होंने आरजेडी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, 'महिलाओं की सुंदरता ही निहारता रह गया। तीन नंबरी पार्टी का मुखिया बिहार को फिसड्डी राज्य का दर्जा जो दिला दिया।'

रोहिणी आचार्य यहीं नहीं रुकीं। उन्होंने एक और ट्वीट किया, जिसमें लिखा कि 'रंगीन मिजाजी के चर्चे सरेआम हैं, इस उम्र में भी चच्चा बदनाम है।'

अब इस मामले को तूल पकड़ता देख एनडीए के दोनों घटक दलों बीजेपी और जेडीयू की ओर से बैकडोर मामले को सुलझाने की कोशिश में लग गए हैं।

क्या हुआ था

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिहार विधानमंडल के शीतकालीन सत्र को लेकर सोमवार को एनडीए विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी। बैठक में बीजेपी विधायक निक्की हेमब्रम ने शराबबंदी की वजह से महुआ की खेती में लगे लोगों की बेरोजगारी का मुद्दा उठाते हुए वैकल्पिक रोजगार का मुद्दा उठाया था।

इसके बाद नीतीश कुमार ने उन्हें बीच में टोक दिया। उन्होंने कहा, 'आप इतनी सुंदर हैं, लेकिन आपको मालूम नहीं है कि आदिवासियों के लिए हमने क्या-क्या किया है और आपका विचार बिल्कुल उलटा है। नीतीश ने बीजेपी के विधायक से यह भी कह दिया कि वह अपने क्षेत्र में जाती ही नहीं हैं। निक्की हेम्ब्रम कटोरिया से विधायक हैं।


पंजाब: CM चन्नी और सिद्धू की मौजूदगी में सिंगर सिद्धू मूसेवाला कांगेस में हुए शामिल

चंडीगढ़: अगले साल पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं और कांग्रेस खुद को मजबूत करने मे जुट गई है। इसी क्रम मे आज पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला शुक्रवार को चंडीगढ़ में राज्य के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू की मौजूदगी में कांग्रेस में शामिल हो गए।

बता दें कि ये वही मूसेवाला हैं जिनपर अमरिंदर सरकार में आर्म्स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। इस मौके पर पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने मूसेवाला को एक युवा आइकन और एक "अंतरराष्ट्रीय शख्सियत" के रूप में वर्णित किया। मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि सिद्धू मूसेवाला हमारे परिवार में शामिल हो रहे हैं। मैं कांग्रेस में उनका स्वागत करता हूं। 

वहीं, पार्टी में सिंगर सिद्धू का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि मूसेवाला अपनी कड़ी मेहनत से एक बड़े कलाकार बने और अपने गीतों से लाखों लोगों का दिल जीता। भले ही कांग्रेस में अंदरुनी तकरार की बात कही जा रही हो, मगर आज पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला को पार्टी में शामिल कराने के लिए एक ही मंच पर नवजोत सिंह सिद्धू और चरणजीत सिंह चन्नी दिखे। इसका मतलब है कि कांग्रेस आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर मिशन मोड में जुट गई है। 


सिद्धू मूसेवाला के बारे में

सिद्धू मूसेवाला, जिनका असली नाम शुभदीप सिंह सिद्धू है, मनसा जिले के मूसा गांव के रहने वाले हैं और उनकी मां एक गांव की मुखिया हैं। गायक को पहले अपने गीतों में हिंसा और बंदूक संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ा था।

इतना ही नहीं, मूसेवाला के खिलाफ पिछले साल पंजाब पुलिस ने अपने एक गाने में हिंसा और बंदूक संस्कृति को बढ़ावा देने के आरोप में आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था।

इससे पहले, कोविड -19 महामारी के दौरान फायरिंग रेंज में एके-47 राइफल से फायरिंग करते हुए उसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद उन्हें एक अन्य मामले में बुक किया गया था।


मिशन यूपी: अखिलेश यादव ने CM योगी पर कसा तंज, कहा-'बाबा तो लैपटॉप चलाना ही नहीं जानतें...'

अखिलेश ने कहा कि सरकार ने अगर अपना वादा पूरा किया होता तो लॉकडाउन में जनता और नौजवानों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता। ये तो कह रहे थे कि लैपटॉप, मोबाइल देंगे, लेकिन क्यों देंगे? हमारे बाबा मुख्यमंत्री तो लैपटॉप चलाना ही नहीं जानते, अगर जानते तो उसकी अहमियत को समझते।

लखनऊ/झांसी: अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव हैं ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां एक दूसरे पर हमला करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही हैं। आज अखिलेश यादव ने सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ पर तंज कसा है। बता दें कि आज अखिलेश यादव झांसी में हैं वह यहां पर जनसभा भी करेंगे।


योगी सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए अखिलेश ने कहा कि सरकार ने अगर अपना वादा पूरा किया होता तो लॉकडाउन में जनता और नौजवानों को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़ता। ये तो कह रहे थे कि लैपटॉप, मोबाइल देंगे, लेकिन क्यों देंगे? हमारे बाबा मुख्यमंत्री तो लैपटॉप चलाना ही नहीं जानते, अगर जानते तो उसकी अहमियत को समझते।


वहीं, फर्जी एनकाउंटर्स को लेकर भी अखिलेश यादव ने सीएम योगी पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के जो आंकडे हैं उनमें कम से कम ये बताना चाहिए कि भारत में महिलाओं और बेटियों पर सबसे ज्यादा अन्याय कहां हैं? वो उत्तर प्रदेश है। फर्ज़ी एनकाउंटर में सबसे ज्यादा नोटिस अगर किसी सरकार को मिले हैं तो वो उत्तर प्रदेश सरकार है।


मिशन यूपी: मायावती का विपक्षियों पर बड़ा हमला, कहा-'कांग्रेस, बीजेपी, सपा मिलकर सिर्फ लुभावने वादे कर रही'

उन्होंने कहा कि भाजपा व सपा जनता को जो वादे कर रही हैं वे काम उन्होंने यहाँ अपनी सरकार के रहते हुए क्यों नहीं किए? कांग्रेस भी महिलाओं को 40% टिकट व स्कूटी आदि देने के जो वादे कर रही है वे काम इन्होंने उन राज्यों में क्यों नही किए जहाँ इनकी सरकारें हैं? यह सोचने की बात है।

लखनऊ: अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा में चुनाव होने हैं और ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां चुनावी तैयारियों में जुट गई है और एक दूसरे पर हमला बोल रही हैं। ताजा मामले में बसपा चीफ मायावती ने भाजपा, सपा और कांग्रेस पर संयुक्त रूप से हमला बोला है।

मायावती ने विपक्षियों पर हमला बोलते हुए कहा कि, यूपी में खासकर भाजपा, सपा, कांग्रेस आदि के द्वारा प्रदेश की जनता को लुभाने व गुमराह करने के लिए आए दिन प्रलोभन भरे जो चुनावी वादों की झड़ी लगाई जा रही है, जिनको सत्ता में आने के बाद अधिकांशः भुला दिया जाता है। अभी तक का यही इतिहास रहा है। जनता इनसे सतर्क रहे।

मायावती ने आगे कहा कि भाजपा व सपा जनता को जो वादे कर रही हैं वे काम उन्होंने यहाँ अपनी सरकार के रहते हुए क्यों नहीं किए? कांग्रेस भी महिलाओं को 40% टिकट व स्कूटी आदि देने के जो वादे कर रही है वे काम इन्होंने उन राज्यों में क्यों नही किए जहाँ इनकी सरकारें हैं? यह सोचने की बात है।


बिहार में जाति आधारित जनगणना होना लगभग तय, तेजस्वी यादव ने दी ये बड़ी जानकारी

बिहार की नीतीश सरकार जाति आधारित जनगणना कराने के पक्ष में है। इसके लिए नीतीश कुमार को अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा का सहयोग नहीं मिल रहा है लेकिन विपक्षी पार्टी राजद का भरपूर सहयोग मिल रहा है।

पटना: केंद्र सरकार ने बिहार में जाति आधारित जनगणना के लिए मना कर दिया है लेकिन बिहार की नीतीश सरकार जाति आधारित जनगणना कराने के पक्ष में है। इसके लिए नीतीश कुमार को अपनी सहयोगी पार्टी भाजपा का सहयोग नहीं मिल रहा है लेकिन विपक्षी पार्टी राजद का भरपूर सहयोग मिल रहा है।

बिहार में अलग से जातीय जनगणना कराने को लेकर विपक्ष का प्रतिनिधिमंडल गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से विधानसभा के उनके कक्ष में मिला। विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के नेतृत्व में सभी दलों के नेताओं ने जातीय जनगणना कराने के लिए जल्द सर्वदलीय बैठक बुलाने का आग्रह मुख्यमंत्री से किया। मुलाकात के बाद पत्रकारों को तेजस्वी यादव ने बताया कि बैठक में निर्णय लिया गया है कि दो-चार दिनों के अंदर सर्वदलीय बैठक होगी। 

सीएम से मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने कहा कि जातीय जनगणना तय है। यह कैसे होगी? इस पर फैसला सर्वदलीय बैठक में होगी। केंद्र ने हमारी माँग को खारिज कर दिया है। ऐसे में बिहार सरकार द्वारा अपने खर्च पर जातीय गणना कराने की हमारी मांग पर मुख्यमंत्री ने भरोसा दिया है। इस विषय में शीघ्र ही सर्वदलीय बैठक बुलाई जाएगी। लालू प्रसाद के नेतृत्व में जातीय जनगणना को लेकर काफी पहले से संघर्ष किया जा रहा है, जिसमें विपक्ष की सभी पार्टियों ने भी सहयोग किया है।

तेजस्वी ने कहा कि नीति आयोग की रिपोर्ट भी बताती है कि बिहार में सबसे अधिक करीब 52 आबादी गरीब है। जातीय जनगणना से यह भी जानकारी मिलेगी कि कौन सी आबादी अधिक पीछे है, जिन्हें आगे लाने के लिए अलग से योजनाएं बनेंगी। कई मामलों में जातीय जनगणना उपयोगी होगी। यह बात गलत है कि जातीय जनगणना से कोई मतभेद पैदा होगा। 

उन्होंने कहा कि हमलोगों ने पहले भी मुख्यमंत्री से आग्रह किया था कि केंद्र सरकार जातीय जनगणना नहीं कराती है तो राज्य सरकार अपने खर्च से इसे कराए। मुख्यमंत्री ने भी इसको लेकर सर्वदलीय बैठक बुलाने की बात कही थी। कहा कि जातीय जनगणना तो तय है, पर कैसे होगी इसका निर्णय सर्वदलीय बैठक में होगा।


मुख्यमंत्री से मिलने वाले विपक्षी सदस्यों में तेजस्वी यादव के अलावा राजद के तेजप्रताप यादव, ललित यादव, कांग्रेस के अजीत शर्मा, माले के महबूब आलम, एमआईएमआईएम के अख्तरूल इमान और सीपीएम के अजय शर्मा शामिल थे। 


'सांवले रंग वाला इंसान झूठे वादे नहीं करता...', पंजाब के सीएम चन्नी को केजरीवाल का जवाब

अगले साल कई राज्यों के साथ-साथ पंजाब में भी चुनाव होने हैं। चुनाव की वजह से राजनीतिक गलियारों में गर्माहट है और लगभग सभी राजनेता एक दूसरे पर जमकर हमला बोल रहे हैं।

चंडीगढ़: अगले साल कई राज्यों के साथ-साथ पंजाब में भी चुनाव होने हैं। चुनाव की वजह से राजनीतिक गलियारों में गर्माहट है और लगभग सभी राजनेता एक दूसरे पर जमकर हमला बोल रहे हैं। 

ताजा मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के 'कांले अंग्रेज' वाले बयान पर पलटवार किया है। केजरीवाल गुरुवार को कहा कि उनका रंग सांवला हो सकता है, लेकिन मंशा बिल्कुल साफ है और वह झूठे वादे नहीं करते। 


केजरीवाल ने पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के बाद आम आदमी पार्टी के सत्ता में आने पर राज्य में जन्में लोगों को मुफ्त और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने तथा ड्यूटी के दौरान मरने वाले सैनिकों या पुलिस के जवानों के परिवारों को एक करोड़ रुपए की अनुग्रह राशि देने का वादा किया।

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री ने बुधवार को आम आदमी पार्टी को 2022 के राज्य विधानसभा चुनाव जीतने की जुगत में लगी 'काले अंग्रेज' की पार्टी करार दिया था।

जवाब में केजरीवाल ने कहा कि भले ही उनका रंग सांवला है, लेकिन उनकी नीयत साफ है। पंजाब में 2022 के आरंभ में विधानसभा चुनाव होने हैं। 

अमृतसर से पठानकोट जाते समय आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने पत्रकारों से कहा, ''मैं उन्हें (कांग्रेस से) कहना चाहता हूं कि एक बार जब हमारी सरकार सत्ता में आ जाएगी तो साधारण कपड़े पहने वाला, और जिसका रंग सांवला है, वह सभी वादे पूरे करेगा। मैं झूठी घोषणाएं या झूठे वादे नहीं करता।'

केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने वादा किया है कि सत्ता में आने पर आप महिलाओं को हर महीने एक हजार रुपए देगा, इसके लिए पंजाब के मुख्यमंत्री उन्हें गाली दे रहे हैं। 

उन्होंने कहा, 'मैं चन्नी साहब का बेहद आदर करता हूं। लेकिन जब से मैने सत्ता में आने पर सभी महिलाओं को एक हजार रुपए देने की घोषणा की है, वह मुझे गाली दे रहे हैं। कुछ दिन पहले, उन्होंने साधारण कपड़े पहनने के लिए मुझ पर तंज कसा था, लेकिन मैं उन्हें कहना चाहता हूं, मुझे इससे कोई दिक्कत नहीं है।'

उन्होंने कहा 'जब हम महिलाओं को एक एक हजार रुपए देंगे तब हम अपनी माताओं और बहनों को खुद के लिए नए सूट खरीदते देख खुश होंगे।' 

केजरीवाल ने कहा, 'कल, उन्होंने (चन्नी) मुझे कहा कि मैं 'काला' (सांवले रंग का) हूं। मैं मानता हूं कि मेरा रंग सांवला है। मैं हर गांव का दौरा करता हूं और तेज धूप में बाहर निकलने पर मेरी त्वचा सांवली हो गई है।  मैं उनकी तरह हेलीकॉप्टर में यात्रा नहीं करता'।

उन्होंने कहा, 'मेरी माताओं और बहनों को यह 'काला भाई' (सांवला भाई) पसंद है। हर कोई जानता है कि मेरी मंशा साफ है, और हर कोई जानता है कि किसकी मंशा खराब है।' 

बाद में पठानकोट में अपनी पार्टी की 'तिरंगा यात्रा' के दौरान, केजरीवाल ने मुफ्त और अच्छी शिक्षा का वादा किया और उनकी पार्टी के सत्ता में आने पर ड्यूटी के दौरान मरने वाले सैनिकों या पुलिस जवानों के परिवारों को एक-एक करोड़ रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की।


बिहार में मिला सोने का सबसे बड़ा भंडार, खनन मंत्री ने संसद को बताया

जमुई जिले के सोनो प्रखंड के करमटिया इलाके में यह भंडार है। केंद्रीय खनन मंत्री प्रहलाद जोशी ने खुद इस बात की जानकारी बुधवार को संसद में दी। प्रहलाद जोशी ने खुलासा किया है कि जमुई में देश का सबसे बड़ा स्वर्ण भंडार है। अकेले 44 प्रतिशत सोना जमुई जिले के सोनो इलाके में है।

नई दिल्ली: सोने के खान देश में बहुत ही कम है लेकिन देश के सबसे बड़ा सोने की खान बिहार में मिली है। इस बातकी जानकारी आज संसद में सरकार ने दी।

जमुई जिले के सोनो प्रखंड के करमटिया इलाके में यह भंडार है। केंद्रीय खनन मंत्री प्रहलाद जोशी ने खुद इस बात की जानकारी बुधवार को संसद में दी। प्रहलाद जोशी ने खुलासा किया है कि जमुई में देश का सबसे बड़ा स्वर्ण भंडार है। अकेले 44 प्रतिशत सोना जमुई जिले के सोनो इलाके में है।

मंत्री के खुलासे के बाद देश के सबसे गरीब राज्यों में से एक बिहार की उम्मीदें जग गई हैं। स्थानीय लोगों को जल्द ही सोने का खनन शुरू होने की आस भी जगी है।

सोने की खान से जुड़ा सवाल सांसद संजय जायसवाल ने पूछा था। बिहार बीजेपी अध्यक्ष और बेतिया सांसद संजय जायसवाल ने लोकसभा में बुधवार को केंद्रीय खनन मंत्री प्रहलाद जोशी से बिहार के राज्यों में सोने के भंडार को लेकर सवाल किया था।

सवाल के जवाब में प्रहलाद जोशी ने जानकारी देते हुये बताया था कि बिहार में देश का सबसे बड़ा स्वर्ण भंडार है। इसमें बताया गया कि देश में कुल 501.83 टन का प्राथमिक स्‍वर्ण अयस्‍क भंडार है। इसमें 654.74 टन स्‍वर्ण धातु है, इसमें 44 फीसद सोना तो केवल बिहार में ही पाया गया है। राज्‍य के जमुई जिले के सोनो क्षेत्र में 37.6 टन धातु अयस्‍क सहित 222.885  मिलियन टन स्‍वर्ण धातु से संपन्‍न भंडार मिला है।

बताते चलें कि जमुई जिले का सोनो प्रखंड के चुरहेत पंचायत का करमटिया इलाका कई दशकों से स्वर्ण भंडार को लेकर चर्चा में रहा है। यहां के लोग बताते हैं कि बहुत पहले से यहां की मिट्टी में सोने के छोटे-छोटे टुकड़े पाए जाते थे।

बहुत पहले लोग करमटीया इलाके के मिट्टी को नदी के पानी में धोकर छानते हुए सोना निकाल लेते थे, जिस कारण ही लगभग 15 साल पहले सरकार की एजेंसी के लोग यहां आए थे और महीनों रहकर सर्वेक्षण का काम हुआ था।

उसी सर्वेक्षण में यह बात सामने आई है कि जमुई जिले के सोनो प्रखंड के इसी करमटिया इलाके में देश का सबसे बड़ा स्वर्ण भंडार है, यहां 44 प्रतिशत सोना पाये जाने की बात कही जा रही है।


मुजफ्फरपुर में 'आंख फोड़वा' आई हॉस्पिटल की वजह से 15 लोगों की आंखे हुई खराब

मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल में आंख का ऑपरेशन करने वाले लोगों में से अबतक 15 लोगों की आंखें निकालने की इसलिए नौबत आ गई हैं क्योंकि उन्हें इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ रहा था।

मुजफ्फरपुर: बिहार के स्वास्थ्य महकमें की कलई एक बार फिर खुली है। दरअसल, मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल में आंख का ऑपरेशन करने वाले लोगों में से अबतक 15 लोगों की आंखें निकालने की इसलिए नौबत आ गई हैं क्योंकि उन्हें इंफेक्शन होने का खतरा बढ़ रहा था।


मुजफ्फरपुर आई हॉस्पिटल में मोतियाबिंद का ऑपरेशन के बाद आंख गंवाने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। बुधवार को मेडिकल कॉलेज में गंभीर रूप से संक्रमित नौ और पीड़ितों की आंख निकालनी पड़ी। इससे आंख गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 15 हो गई है। बुधवार को नौ नए मरीज मेडिकल कॉलेज में भर्ती किए गए हैं। जांच के बाद इनकी आंख निकालने पर फैसला होगा। 

बढ़ सकती है मरीजों की संख्या

ऑपरेशन कर रहे डॉक्टरों के अनुसार संख्या बढ़ सकती है। दूसरी ओर, 22 नवंबर को ऑपरेशन कराने वाले सभी लोगों में संक्रमण की आशंका के बावजूद स्वास्थ्य विभाग ने उन्हें उनके हाल पर छोड़ रखा है। लगभग पचास पीड़ितों के बारे में न तो विभाग के पास पर्याप्त जानकारी है और न ही उनकी कोई खोज-खबर ली जा रही है। 

तीन दिन बाद जागे सीएस

घटना सामने आने के तीन दिन बाद बुधवार को सीएस जागे और आई अस्पताल को पत्र भेजकर पीड़ितों का ब्योरा व अस्पताल से जुड़े दस्तावेज मांगे। वह भी तब जब मुख्यालय ने उनसे पूरी जानकारी तलब की। इस बीच, डीएम ने पीड़ितों को मुख्यमंत्री सहायत कोष से मुआवजा देने की बात कही है। 

मंगलवार को 2 मरीजों की निकाली गईं थीं आंखें

इससे पहले, मंगलवार को दो पीड़ितों की आंख निकाली गई थी, जबकि ऑपरेशन के दूसरे दिन 22 नवंबर को आई अस्पताल ने मामला दबाने के लिए आनन-फानन में चार मरीजों की आंख निकाली थी। 

बुधवार को मुजफ्फरपुर के साथ ही पटना में यह मामला गरमाया रहा। स्वास्थ्य विभाग के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह सहित कई अन्य आला अधिकारियों के फोन आने के बाद सीएस डॉ. विनय कुमार शर्मा टीम के साथ अस्पताल पहुंचे। 


अलीगढ़ जिला जेल में कैदियों के लिए लगाया गया होम्योपैथिक चिकित्सा कैंप

अलीगढ़: हर इंसान को शिक्षा, स्वास्थ्य का अधिकार खासकर भारत में प्राप्त है। लेकिन कुछ ऐसे स्थान भी होते हैं जहां पर लोगों को मूलभूत सुविधाएं मिलती तो हैं लेकिन दुनिया के सामने नहीं आ पाती।

May be an image of 5 people, people sitting, people standing and indoor

ऐसी ही जगहों में एक स्थान है जेल। जी हां! सलाखों के पीछे एक अलग ही दुनिया बसती है और वहां रहनेवालों के हर छोटी-बड़े अधिकारों को उन तक पहुंचाने का सारा जिम्मा जेल प्रशासन पर होता है।

May be an image of 5 people, people standing and indoor

इसी कड़ी में कैदियों के हेल्थ सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए अलीगढ़ जिला कारागार में वार्ष्णेय मंदिर होम्योपैथिक चिकित्सालय, अलीगढ़ के तत्वावधान में बंदियों के लिए होम्योपैथिक चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। उक्त आयोजित चिकित्सीय शिविर में डा. सुनील गुप्ता, डा.अशोक वशिष्ठ, डा. एस. के. गौड़ द्वारा 297 पुरुष बंदियों एवं 46 महिला बंदियों सहित कुल 343 बंदियों को परीक्षणोपरान्त निशुल्क दवायें भी वितरित की गईं।

 

May be an image of 11 people, people sitting, people standing and indoor

हेल्थ कैंप के बारे में जिला कारागार अलीगढ़ के वरिष्ठ जेल अधीक्षक ने न्यूज9इंडिया को बताया कि समय-समय पर जिला कारागार अलीगढ़ में कैदियों के हितों को ध्यान में रखते हुए और उनकी सेहत ठीक रहे इसके लिए हेल्थ कैंप का आयोजन किया जाता है। कभी आंख के लिए कैंप लगाए जाते हैं, तो कभी कैंसर व अन्य गंभीर बिमारियों के लिए विभिन्न एनजीओ व चिकित्सा के क्षेत्र में काम करने वाले संगठनों के सहयोग से कैदियों के लिए हेल्थ कैंप लगाए जाते हैं। इसके अलावा कैदियों को अवसाद मुक्त बनाए रखने के लिए समय-समय पर योगा कैंप भी लगाया जाता है। इसी क्रम में आज कैदियों को होम्योपैथिक दवाएं दी गईं और उनका हेल्थ चेकअप करके डॉक्टरों द्वारा उचित दिशा निर्देश दिए गए।

 

May be an image of 4 people and people standing

इस अवसर पर वरिष्ठ जेल अधीक्षक विपिन कुमार मिश्र, जेलर पी.के सिंह व कारागार चिकित्सालय के वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ शाहरुख रिज़वी द्वारा वार्ष्णेय मंदिर होम्योपैथिक चिकित्सालय के सभी पदाधिकारियों का हार्दिक आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया गया।

May be an image of 11 people, people standing and indoor

 

May be an image of 11 people, people standing and indoor


अखिलेश यादव का योगी सरकार पर हमला, कहा- 'बुदेंलखंड एक्सप्रेस-वे 4.5 साल बाद भी आधा अधूरा, राठ योजना को किया बंद'

उन्होंने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। ये वही लोग हैं जिन्होंने कहा था कि चप्पल पहनने वाले लोगों को हम हवाई यात्रा करवाएंगे और पेट्रोल-डीज़ल इतना मंहगा हो गया है कि गरीब की गाड़ी नहीं चल सकती है।

बांदा: अगले साल यानि 2022 में उत्तर प्रदेश में विधासभा चुनाव होने हैं और सभी राजनीतिक पार्टियों का एक दूसरे पर हमला करना चारी है। इसी क्रम में आज यूपी के पूर्व सीएम व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में रैली करने पहुंचे। उन्होंने इस अवसर पर सूबे की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला।

अखिलेश यादव ने कहा कि बुदेंलखंड एक्सप्रेस-वे 4.5 साल बाद भी आधा अधूरा है, पूरा नहीं हो पाया है। घर-घर नल पहुंचाने की योजना राठ से शुरू की गई थी, लेकिन राठ की योजना को बंद कर दिया गया। अभी भी बुंदेलखंड के घरों में नल से पानी पहुंचा है।

Image

अखिलेश यादव ने रैली को संबोधित करते हुए आगे कहा कि महंगाई लगातार बढ़ती जा रही है। ये वही लोग हैं जिन्होंने कहा था कि चप्पल पहनने वाले लोगों को हम हवाई यात्रा करवाएंगे और पेट्रोल-डीज़ल इतना मंहगा हो गया है कि गरीब की गाड़ी नहीं चल सकती है।


विधानसभा परिसर में शराब की बोतलें मिलने पर CM नीतीश का बड़ा बयान, कहा-'कोई कर रहा है गड़बड़, छोड़ेंगे नहीं'

नीतीश कुमार ने कहा कि इस चीज़ को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। हम मुख्य सचिव और DGP को इस पर कार्रवाई करने के लिए कहेंगे। अगर यहां शराब की बोतल आई है तो इसका मतलब कोई गड़बड़ कर रहा है और उसको छोड़ना नहीं चाहिए।

पटना: आज बिहार विधानसभा परिसर में शराब की बोतले मिलने के बाद सूबे के सीएम नीतीश कुमार विपक्षियों के निशाने पर आ गए हैं। लेकिन उन्होंने विधानसभा में इस घटना को साजिश बताया है और कहा है कि कोई गड़बड़ कर रहा है, इस चीज को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बिहार विधानसभा परिसर में शराब की बोतल मिलने पर सदन में बोलते हुए राज्य के CM नीतीश कुमार ने कहा कि इस चीज़ को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। हम मुख्य सचिव और DGP को इस पर कार्रवाई करने के लिए कहेंगे। अगर यहां शराब की बोतल आई है तो इसका मतलब कोई गड़बड़ कर रहा है और उसको छोड़ना नहीं चाहिए। 

तेजस्वी ने इसे लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमले करते हुए उन्हें घेरने की कोशिश की। तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार विधानसभा के अंदर शराब की बोतल कहां से आई ?मुख्यमंत्री को खुद मुआयना करना चाहिए। शराब माफिया के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर हमने देखी है। नीतीश कुमार के मंत्रियों को अपराध करने की छूट है। CM को बिहार की जनता से माफी मांगनी चाहिए।


उत्तराखंड को PM मोदी देंगे 26 हजार करोड़ की सौगात

उत्तराखंड के CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया कि दिसंबर को PM मोदी की एक विशाल जनसभा होगी। उसकी तैयारियों के लिए हम यहां आए हैं। प्रधानमंत्री जी उस दिन लगभग 4 हज़ार करोड़ रुपए की योजनाएं जो पूरी हो चुकी हैं उनका लोकार्पण करेंगे और 26 हज़ार करोड़ रुपए की योजनाओं का शिलान्यास करेंगे।

देहरादून: उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में 4 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित दौरे से पहले उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने परेड मैदान में विभिन्न व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। पीएम मोदी अपने इस दौरे पर प्रदेश को 26 हजार करोड़ की सौगात देंगे।

उत्तराखंड के CM पुष्कर सिंह धामी ने बताया कि  दिसंबर को PM मोदी की एक विशाल जनसभा होगी। उसकी तैयारियों के लिए हम यहां आए हैं। प्रधानमंत्री जी उस दिन लगभग 4 हज़ार करोड़ रुपए की योजनाएं जो पूरी हो चुकी हैं उनका लोकार्पण करेंगे और 26 हज़ार करोड़ रुपए की योजनाओं का शिलान्यास करेंगे।


UPTET Exam 2021: व्हाट्सएप पर पेपर लीक होने के बाद परीक्षा रद्द, अब 1 माह बाद होंगे एग्जाम

ये एग्जाम दो पारियों में आयोजित होनी थी। इस परीक्षा में करीब 21 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे। बताया जा रहा है कि अब एक महीने के बाद ये परीक्षा नए सिरे फिर से आयोजित की जाएगी। इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

नई दिल्ली: आज यूपी में होने वाली UP TET की परीक्षा पेपर व्हाट्सएप पर लीक होने के नाते रद्द कर दी गई है। अब यह परीक्षा 1 महीने बाद होगी और इसके लिए परीक्षार्थियों को किसी भी प्रकार की फीस नहीं देनी होगी।

ये एग्जाम दो पारियों में आयोजित होनी थी। इस परीक्षा में करीब 21 लाख से ज्यादा परीक्षार्थी शामिल होने वाले थे। बताया जा रहा है कि अब एक महीने के बाद ये परीक्षा नए सिरे फिर से आयोजित की जाएगी। इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

सॉल्वर गैंग के कई सदस्य गिरफ्तार


जानकारी के मुताबिक सॉल्वर गैंग से जुड़े कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं एसटीएफ इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है। बताया जा रहा है कि व्हाट्सऐप पर पेपर लीक किया गया था।

पुलिस के मुताबिक गाजियाबाद, बुलंदशहर, मथुरा में व्हाट्सएप ग्रुप पर एग्जाम का पेपर वायरल हुआ था, जिसके बाद परीक्षा को रद्द करना पड़ा है।


मायानगरी मुम्बई में 20 वर्षीय युवती की दुष्कर्म के बाद हत्या, 2 संदिग्ध पुलिस हिरासत में, मामले की जांच जारी

मुंबई के एक इलाके में खाली पड़े बिल्डिंग में महिला की लाश मिली है। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात शख्स के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 और 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। मामले में पुलिस 2 संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। दोनों संदिग्ध मृतक युवती के जानकार बताए जा रहे हैं।

मुंबई: मायानगरी मुम्बई में एक 20 वर्षीय युवती की रेप के बाद हत्या किए जाने का मामला सामने आया है। मामले में पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर ली है और 2 संदिग्धों को हिरासत में लिया है। युवती की लाश वीरान जगह पर मिली।


मुंबई के एक इलाके में खाली पड़े बिल्डिंग में महिला की लाश मिली है। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात शख्स के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 और 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। 

शुरू में डीसीपी (जोन 5), प्रणय अशोक ने कहा था, 'आरोपी युवक की पहचान के लिए विशेष टीमें बनाई गई हैं। सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से यौन उत्पीड़न के सबूत मिले हैं।'

मामले में पुलिस ने दो संदिग्धों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि दोनों संदिग्ध पीड़िता के परिचित हैं। फिलहाल पुलिस इनसे इस घटना के संबंध में सघन पूछताछ कर रही है। पुलिस की तरफ से यह भी बताया गया है कि लड़की की डेड बॉडी अब सड़ने लगी थी।

इस खौफनाक वारदात को लेकर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि गुरुवार को कुछ लड़के वीडियो शूट करने के लिए इस बिल्डिंग में गए हुए थे। लेकिन इमारत बंद थी। जैसे ही यह लड़के वहां पहुंचे उनकी नजर महिला की डेड बॉडी पर पड़ी। इसके बाद घबराए लड़कों ने स्थानीय लोगों को इस संबंध में सूचित जिसके बाद पुलिस को भी सूचना दी गई। बताया जा रहा है कि मृत लड़की की सिर पर गंभीर चोट के निशान हैं। 


भारत की सारी बातें भारत की भूमि से जुड़ी हैं, संयोग से नहीं: मोहन भागवत

मोहन भागवत ने कहा कि हिन्दू के बिना भारत नहीं और भारत के बिना​ हिन्दू नहीं। भारत टूटा, पाकिस्तान हुआ क्योंकि हम इस भाव को भूल गए कि हम हिन्दू हैं, वहां के मुसलमान भी भूल गए। खुद को हिन्दू मानने वालों की पहले ताकत कम हुई फिर संख्या कम हुई इसलिए पाकिस्तान भारत नहीं रहा।

ग्वालियर: आज आरएसएस चीफ मोहन भागवत में मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में एक कार्यक्रम में शिरकत की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आरएसएस चीफ ने कहा कि ये हिन्दुस्तान है और यहां परंपरा से हिन्दू लोग रहते आए हैं जिस-जिस बात को हिन्दू कहते हैं उन सारी बातों का विकास इस भूमि में हुआ है। भारत की सारी बातें भारत की भूमि से जुड़ी हैं, संयोग से नहीं।

मोहन भागवत ने कहा कि हिन्दू के बिना भारत नहीं और भारत के बिना​ हिन्दू नहीं। भारत टूटा, पाकिस्तान हुआ क्योंकि हम इस भाव को भूल गए कि हम हिन्दू हैं, वहां के मुसलमान भी भूल गए। खुद को हिन्दू मानने वालों की पहले ताकत कम हुई फिर संख्या कम हुई इसलिए पाकिस्तान भारत नहीं रहा।

आरएसएस चीफ ने आगे कहा कि हिन्दू और भारत अलग नहीं हो सकते हैं। भारत को भारत रहना है तो भारत को हिन्दू रहना ही पड़ेगा। हिन्दू को हिन्दू रहना है तो भारत को अखंड बनना ही पड़ेगा।


पंजाब: अस्थायी शिक्षकों को मिला अरविंद केजरीवाल का साथ, कही ये बड़ी बात

अध्यापक 6,000 रुपए की तनख्वाह पर काम कर रहे हैं। 6,000 रुपए की सैलरी लेकर किसका गुजारा चल सकता है। पंजाब सरकार इनकी मांगों पर विचार करें।

मोहाली: अस्थायी शिक्षक अपनी मांगों को लेकर मोहाली में राज्य शिक्षा विभाग के बाहर लगभग 6 महीनों से धरना प्रदर्शन कर रहीं हैं। प्रदर्शन में बैठी शिक्षिका ने बताया, “हमें 18 साल हो गए हैं पढ़ाते हुए और हमारी तनख्वाह 6,000 रुपए ही है। हमारी मांग है कि सरकार हमें जल्द स्थायी करे।”


अब इन शिक्षकों को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का भी साथ मिल गया है। आज केजरीवाल ने  प्रदर्शनरत महिला शिक्षकों से मिले और कहा कि मैं यहां इन अध्यापकों का समर्थन करने के लिए आया हूं।

केजरीवाल ने आगे कहा कि अध्यापक 6,000 रुपए की तनख्वाह पर काम कर रहे हैं। 6,000 रुपए की सैलरी लेकर किसका गुजारा चल सकता है। पंजाब सरकार इनकी मांगों पर विचार करें।


उत्तर प्रदेश अपराध मुक्त या ‘अपराध युक्त’? हर 24 घंटे में 5 बच्चे हो रहे हैं लापता

एक रिपोर्ट के मुताबिक यूपी में करीब 5 बच्चे हर दिन लापता हो रहे हैं। 2 सालों से लगातार चाइल्ड प्रोटेक्शन के लिए काम कर रहे समाजसेवी और आरटीआई (RTI) एक्टिविस्ट द्वारा प्रदेश में लापता हुए बच्चों की जानकारी सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई।

लखनऊ: एक तरफ यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ यह दावा करते नहीं थकते कि उनके शासनकाल में यूपी अपराध मुक्त हो चुका है और अपराधी सलाखों के पीछे पहुंच चुके हैं। लेकिन हकीकत कुछ और ही है। दरअसल, एक रिपोर्ट के मुताबिक यूपी में करीब 5 बच्चे हर दिन लापता हो रहे हैं। 2 सालों से लगातार चाइल्ड प्रोटेक्शन के लिए काम कर रहे समाजसेवी और आरटीआई (RTI) एक्टिविस्ट द्वारा प्रदेश में लापता हुए बच्चों की जानकारी सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई। 


अभी तक मिली सूचना के मुताबिक यूपी के 75 जिलों में से 50 जिलों में एक साल में 1 से 18 वर्ष तक के 1763 बच्चे लापता हैं। इनमें से 1166 लड़कियां और 597 लड़के हैं। अभी करीब 25 जिलों का डाटा आना बाकी है, जिनमें से लखनऊ , गोरखपुर,नोएडा, मथुरा जैसे शहर शामिल हैं। यह आंकड़े और अधिक हो सकते हैं, क्योंकि अमेठी सहित कुछ जिलों की पुलिस ने आरटीआई का जबाव देने से सीधे इंकार कर दिया है। 

सूचना के अधिकार के तहत मिले इस डाटा के मुताबिक प्रदेश में 5 बच्चे ( 3 लड़कियां और 2 लड़के) औसतन रोज गायब हो रहे हैं, पूरे प्रदेश में ऑपरेशन मुस्कान के तहत लापता बच्चों को ढूंढने की कोशिश कई बार हुई पर जिले में अधिकारी बदलते ही फिर वही हाल हो जाता है। जहां एक और पिछले डेढ़ साल से पूरे प्रदेश में मिशन शक्ति अभियान चलाया जा रहा है, जिसके तहत बच्चों की सुरक्षा की बात कही जाती है। 


आगरा के आरटीआई एक्टिविस्ट को आरटीआई से मिली जानकारी से आंकड़े सामने आए हैं। यूपी पुलिस के राज्य क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के सूचना अधिकारी के द्वारा दिये गए जवाब के मुताबिक यूपी के 50 जिलों से 2020 में कुल 1763 बच्चे लापता हुए, जिनमें से 1166 लड़कियां हैं। जिनमें से 1080 लड़कियां 12-18 साल की हैं। 

आरटीआई एवं चाइल्ड राइट एक्टिविस्ट नरेश पारस ने 2020 में लापता बच्चों की जानकारी यूपी पुलिस के सभी मंडलों के एडीजी और लखनऊ पुलिस हेडक्वाटर से मांगी थी। जिसमें से उन्हें 50 जिलों से जबाव मिला है। इन लापता बच्चों में से 1461 बच्चों को बरामद किया गया। 302 बच्चे अभी लापता हैं, जिनमें से 102 लड़के और दो सौ लड़कियां हैं। 

आरटीआई के जवाब में 50 जिलों के मिले आंकड़ों के मुताबिक पांच जिले सबसे ज्यादा संवेदनशील हैं, इनमें मेरठ में 113, गाजियाबाद में 92, सीतापुर में 90, मैनपुरी में 86 और कानपुर नगर में 80 बच्चे लापता हैं। 


नरेश पारस ने लापता बच्चों पर चिंता जताते हुए कहा कि आखिर बच्चे कहां जा रहे हैं? हर रोज पांच बच्चों का लापता होना चिंता का विषय है। लापता बच्चा चार माह तक बरामद न होने पर विवेचना मानव तस्करी निरोधक शाखा में स्थानांतरित करने का प्रावधान है। उसके बावजूद भी लापता बच्चों का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है, लड़कियों की संख्या और अधिक चितिंत करती है। 12-18 साल की लड़कियां ज्यादा गायब हो रहीं हैं, इनमें या तो लड़कियां प्रेमजाल में फंस रही हैं या फिर उनको मानव तस्करी के जरिये देह व्यापार में धकेला जा रहा है। 


आरटीआई एक्टिविस्ट नरेश पारस ने बताया कि हर जिले में पुलिस मुख्यालय पर लापता बच्चों की जन सुनवाई कराई जाए। जिसमें थाने के विवेचक और परिजनों को बुलाकर केस की समीक्षा की जाए। चार महीने तक बच्चा न मिलने पर मानव तस्करी निरोधक थाने से विवेचना कराई जाए। यह थाने हर जनपद में खोले गए हैं। 



50 जिलों से मिली सूचना के अधिकार के तहत लापता बच्चों का आंकड़े


1- सोनभद्र - 28

2 - प्रयागराज - 80

3- बागपत- 16

4- हाथरस - 5

5 - श्रावस्ती - 18

6 - रायबरेली - 17

7 - सुल्तानपुर - 47

8 - हापुड़ - 23

9 -कासगंज - 4

10 - सहारनपुर - 22

11 - मुजफ्फरनगर -49

12 - पीलीभीत - 14

13 -जौनपुर-68

14 -बलरामपुर -17

15 -मोरादाबाद - 53

16 - झांसी - 22

17 -गाजियाबाद - 92

18 फिरोजाबाद - 27

19 -महोबा - 9

20 - बिजनौर -13

21 -कौशाम्बी - 57

२२ - बलिया -18

23 - चंदौली -8

24 - आजमगढ़ - 61

25 - मिर्जापुर - 18

26 -सिद्धार्थनगर - 18

27 -बाराबंकी -29

28 - गोंडा - 32

29 -ललितपुर - 9

30 - अमरोहा - 9

31 -सम्भल - 16

32 - अलीगढ - 22

33 - अंम्बेडकर नगर -56

34 - संतकबीर नगर - 27

35 - चित्रकूट - 44

36 - बस्ती - 17

37 -खीरी - 17

38 आगरा - 23

39 - कानपुर नगर -80

4०-कानपूर देहात - 54

41 - मेरठ - 113

42 - हमीरपुर - 26

43 - मैनपुरी - 96

44 - कन्नौज - 25

45 - महराजगंज - 35

46 -शामली - 31

47 - आंबेडकर नगर - 53

48 - संतकबीर नगर - 34

49 - सीतापुर - 90

50 - एटा - 19



मिशन यूपी: सपा पर भड़कीं मायावती, कहा- दलित सावधान रहें

लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने संविधान दिवस के मौके पर समाजवादी पार्टी पर हमला बोला और कहा कि समाजवादी पार्टी से दलित सावधान रहें, वह दलितों का विकास नहीं कर सकती है। इन वर्गों के लोगों को समाजवादी जैसी पार्टियों से जरूर सावधान रहना चाहिए।

मायावती शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत में कहा कि "देश में गरीबी बढ़ रही है और खासतौर से मध्यम और गरीब लोग बहुत दुखी हैं, केंद्र व राज्य सरकारों को इस पर ध्यान देना चाहिए। दोनों ही इसके प्रति गंभीर नहीं है। मायावती ने कृषि कानूनों पर बोलते हुए कहा कि "तीन कृषि कानून वापस कर लिए गए हैं जो बहुत उचित कदम है, लेकिन किसानों की अन्य जरूरी मांगों को भी पूरा कर लेना चाहिए ताकि किसान अपने घरों को खुशी-खुशी वापस लौट सकें।"

मायावती ने कहा कि चूंकि दलितों के विकास पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है इसलिए उन्होंने संविधान दिवस पर होने वाले कार्यक्रम से भी दूरी बनाई है। मायावती ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारें इस बात की गहन समीक्षा करें कि क्या यह पार्टियां संविधान का सही से पालन कर रही हैं, उन्होंने कहा कि यह लोग इसका सही से पालन नहीं कर रहे हैं, इसलिए हमारी पार्टी ने केन्द्र और राज्य सरकारों के संविधान दिवस मनाने के कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेने का फैसला किया है।

मायावती ने कहा कि समाजवादी पार्टी से दलित सावधान रहें वह दलितों का विकास नहीं कर सकती है, इन वर्गों के लोगों को एसपी जैसी पार्टियों से जरूर सावधान रहना चाहिए, जिसने एससी और एसटी संबंधित बिल को संसद में फाड़ दिया था और षड्यंत्र तहत पास भी नहीं होने दिया था।

मायावती ने कहा कि परम पूजनीय डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जी ने भारतीय संविधान में देश के कमजोर एवं उपेक्षित वर्गों को विशेषकर शिक्षा और सरकारी नौकरियों में आरक्षण और अन्य जरूरी सुविधाओं का प्रावधान किया है। उसका पूरा लाभ इन वर्गों के लोगों को नहीं मिल पा रहा है, जिसको लेकर इन वर्गों के लोग और हमारी पार्टी बहुत ज्यादा दुखी है। केंद्र और राज्य की सभी सरकारें इस वर्ग पर जरूर ध्यान दें, यह बीएसपी इनको सलाह देती है।

एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग का ज्यादातर विभागों में आरक्षण का कोटा अधूरा पड़ा है। शोषित,वंचित एवं गरीब वर्गों के लोगों का आज भी अपने हक के लिए सड़कों पर धरना प्रदर्शन जारी हैं।
उन्होंने आगे कहा कि प्राइवेट सेक्टर में भी इन वर्गों के लिए आरक्षण देने की कोई व्यवस्था नहीं की गई है। केंद्र और राज्य सरकारें प्राइवेट सेक्टरों में आरक्षण के मामले को लेकर तैयार नहीं है। क्या केंद्र और राज्य सरकारें संविधान का पालन कर रही हैं? ऐसी सरकारों को संविधान दिवस मनाने का कतई भी नैतिक अधिकार नहीं है, ऐसी सरकारों को आज इस मौके पर इन वर्गों के लोगों से माफी मांगना चाहिए।

मायावती ने विधायक उमाशंकर सिंह को बीएसपी दल का नेता बनाने की घोषणा की, दरअसल, गुरूवार को बीएसपी के विधानमंडल दल नेता गुड्डू जमाली ने बीएसपी से अपना नाता तोड़ लिया है।


मिशन यूपी: TMC से प्रेरित सपा ने लॉन्च किया चुनावी गाना 'खेला होइबे खदेड़ा होइबे'

समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बीजेपी पर निशाना साधते हुए आगामी विधानसभा चुनावों के लिए टीएमसी से प्रेरित होकर एक नया चुनावी गाना 'खेला होइबे खदेड़ा होइबे' जारी किया है।

लखनऊ: अगले साल उत्तर प्रदेश में विधासभा  चुनाव होने हैं। ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियां जी जान से प्रचार करने में जुटी हैं और प्रचार सामग्री भी बनवा रही है। प्रचार सामग्री बनवाने के क्रम में समाजवादी पार्टी ने अपना चुनावी गाना लांच किया हैं।


समाजवादी पार्टी ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  और बीजेपी पर निशाना साधते हुए आगामी विधानसभा चुनावों के लिए टीएमसी से प्रेरित होकर एक नया चुनावी गाना 'खेला होइबे खदेड़ा होइबे' जारी किया है।


समाजवादी पार्टी ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए इस गाने को लॉन्च किया है। सपा के इस गाने का नाम 'यूपी में खेला होइबे, खदेड़ा होइबे' है। समाजवादी पार्टी द्वारा लॉन्च किए गए सॉन्ग में एक तरफ अखिलेश की रैली को दिखाया गया है।

रैली में उमड़ी भारी भीड़ को दिखाया गया है, वहीं गाने में बीजेपी पर भी जमकर निशाना साधा गया है। गाने में कहा गया है कि चुनाव में बीजेपी मुंह के बल गिरेगी और अंत में सारा खेल खत्म हो जाएगा। समाजवादी पार्टी के इस गाने के जरिए साफ तौर पर यह बताने की कोशिश की गई है कि इस बार उत्तर प्रदेश की जनता समाजवादी पार्टी के साथ है।

लैपटॉप बांटने से लेकर बीजेपी पर हमला तक...


गाने के वीडियो में अखिलेश यादव भी नजर आते हैं जो युवाओं को लैपटॉप बांटते दिख रहे हैं। समाजवादी पार्टी के इस गाने में महंगाई का भी जिक्र है तो वहीं जबरन तानाशाही न चलाने की बात भी कही गई है। वहीं,  कोरोना काल में ऑक्सीजन की कमी के मुद्दे को भी बड़े विस्तार से दिखाया गया है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव  होने हैं। ऐसे में आगामी चुनावों को देखते हुए सभी राजनीतिक दल जीत हासिल करने के लिए हर संभव प्रयास करते नजर आ रहे हैं। इसी कड़ी में अब समाजवादी पार्टी ने अपना गाना लॉन्च किया है।


प्रयागराज में एक ही परिवार के 4 लोगों की हत्या, प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर बोला हमला

प्रियंका गांधी ने कहा को ऐसी परिस्थिति को देखकर शासन और प्रशासन के लोग कैसे चुप रह सकते हैं? आज संविधान दिवस है और संविधान में लिखा है कि इस तरह के हादसे नहीं होने चाहिए,अगर होते हैं तो कार्रवाई होनी चाहिए। दलितों पर अत्याचार हो रहा है तो क्या सब ऐसे ही चुप बैठेंगे?

प्रयागराज: उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या के मामले को लेकर प्रियंका गांधी ने सूबे की योगी सरकार पर करारा हमला बोला है।

प्रियंका गांधी ने कहा को ऐसी परिस्थिति को देखकर शासन और प्रशासन के लोग कैसे चुप रह सकते हैं? आज संविधान दिवस है और संविधान में लिखा है कि इस तरह के हादसे नहीं होने चाहिए,अगर होते हैं तो कार्रवाई होनी चाहिए। दलितों पर अत्याचार हो रहा है तो क्या सब ऐसे ही चुप बैठेंगे?

प्रियंका ने आगे कहा कि मैं पूछना चाहती हूं कि इन्हें न्याय क्यों नहीं मिल रहा। जिस तरह ये घटना हुई है मैं उससे खुद हिली हुई हूं और परिवार दहशत में है। इन्हें पुलिस से सहयोग नहीं मिला है।

मामले को लेकर प्रयागराज के DIG ने बताया, “हमने रिपोर्ट देखी है कि 2019 और 2021 में इन्होंने SC/ST एक्ट में कुछ लोगों के ख़िलाफ़ भूमि विवाद पर एक मामला दर्ज़ कराया है। उस मामले की भी जांच करेंगे।”


उधमपुर एक्सप्रेस बनी 'बर्निंग ट्रेन', 2 बोगी जलकर खाक, सभी यात्री सुरक्षित

आग बुझाने के लिए ट्रेन को मुरैना के पास हेतमपुर रेलवे स्टेशन पर रोका गया था। हालांकि, इस हादसे में किसी यात्री के घायल होने की सूचना नहीं है लेकिन कई यात्रियों के सामान जरूर जलकर खाक हो गए।

मुरैना: आज उधमपुर एक्सप्रेस ट्रेन में उस समय अफरातफरी मच गई जब अचानक 2 बोगियों में आग लग गई। जानकारी के मुताबिक, आग बुझाने के लिए ट्रेन को मुरैना के पास हेतमपुर रेलवे स्टेशन पर रोका गया था। हालांकि, इस हादसे में किसी यात्री के घायल होने की सूचना नहीं है लेकिन कई यात्रियों के सामान जरूर जलकर खाक हो गए।

मिली जानकारी के मुताबिक, उधमपुर से दुर्ग जा रही उधमपुर एक्सप्रेस ट्रेन नंबर 20848 में शुक्रवार दोपहर में अचानक आग लग गई। आग लगने के बाद ट्रेन को हेतमपुर रेलवे स्टेशन के पास रोका गया था। आग बुझाने के लिए मुरैना और आसपास के क्षेत्र की दमकलों को बुलाया गया था। जीआरपी और जिला पुलिस के जवान भी वहां पहुंच गए थे। उन्होंने बर्निंग ट्रेन के रुकने पर ग्रामीणों और यात्रियों की भीड़ को आग में जल रही बोगियों से दूर हटाया।


वसूली कांड: परमबीर सिंह के खिलाफ जारी हुये NBW को ठाणे कोर्ट ने किया रद्द

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ठाणे कोर्ट से रवाना हुए। अदालत ने पेश होने के बाद ने उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट रद्द कर दिया। कोर्ट ने उन्हें ठाणे पुलिस को जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया है।

ठाणे: मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ठाणे कोर्ट से रवाना हुए। अदालत ने पेश होने के बाद ने उनके खिलाफ गैर-जमानती वारंट रद्द कर दिया। कोर्ट ने उन्हें ठाणे पुलिस को जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया है।

वहीं, दूसरी तरफ आज परम बीर सिंह से ठाणे नगर पुलिस थाने में लगभग 4 घंटे तक जांच अधिकारियों ने पूछाताछ की। इससे पहले गुरुवार को वसूली कांड मामले में वह क्राइम ब्रांच के सामने पेश हुए थे, जहां उनसे मामले की जांच कर रहे अधिकारियों ने लगभग 7 घंटे तक पूछताछ की। पूछताछ के दौरान परम बीर सिंह खुद को पाक-साफ बताते रहे। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है और वह जांच में सहयोग करते रहेंगे।

क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक,  परम बीर सिंह को वापस जांच के लिए बुलाया जाएगा। हालांकि, वह जांच में सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने शिकायतकर्ता के आरोपों पर कहा कि मुझे इसकी जानकारी नहीं है।

गौरतलब है कि उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर ‘एंटीलिया’ के बाहर एक गाड़ी से विस्फोटक मिलने के बाद दर्ज मामले में मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे की गिरफ्तारी के बाद सिंह को मार्च 2021 में मुंबई पुलिस आयुक्त पद से हटा दिया गया था। इसके बाद सिंह को होम गार्ड्स का महानिदेशक नियुक्त किया था।


यूपी की क़ानून व्यवस्था देश के लिए एक नज़ीर बन रही है: CM योगी

अगले साल यानि 2022 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं और सूबे के सीएम लगातार अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिना रहे हैं। आज एक बार फिर से सीएम योगी ने अपने शासन की कानून व्यवस्था का बखान किया। उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरे देश के लिए नजीर बन रही है।

लखनऊ: अगले साल यानि 2022 में उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं और सूबे के सीएम लगातार अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिना रहे हैं। आज एक बार फिर से सीएम योगी ने अपने शासन की कानून व्यवस्था का बखान किया। उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरे देश के लिए नजीर बन रही है।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज भारत तेजी के साथ दुनिया की एक बड़ी ताक़त के रूप में उभर रहा है, उतनी ही तेजी के साथ वे षड्यंत्र भी प्रारंभ होते हुए दिखाई देते हैं, जो भारत को एक भारत, श्रेष्ठ भारत के रूप में आगे नहीं बढ़ने देना चाहते हैं।

सीएम योगी ने आगे कहा कि आज उत्तर प्रदेश की क़ानून व्यवस्था देश के लिए एक नज़ीर बन रही है। जब देश विभिन्न क़ानून व्यवस्थाओं की चुनौतियों से गुजर रहा होता है, तब उत्तर प्रदेश आनंद के साथ अपने पर्व और त्योहारों को आनंद के साथ मनाता हुआ दिखता है।


वसूली कांड: क्राइम ब्रांच ने परम बीर सिंह से 7 घंटे तक की पूछताछ, खुद को बताया पाक-साफ

वसूली कांड मामले में आज मुम्बई के पूर्व पुलिस कमिश्नर आज मुम्बई पुलिस की क्राइम ब्रांच के सामने पेश हुए, जहां उनसे मामले की जांच कर रहे अधिकारियों ने लगभग 7 घंटे तक पूछताछ की। पूछताछ के दौरान परम बीर सिंह खुद को पाक-साफ बताते रहे। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है और वह जांच में सहयोग करते रहेंगे।

मुंबई: वसूली कांड मामले में आज मुम्बई के पूर्व पुलिस कमिश्नर आज मुम्बई पुलिस की क्राइम ब्रांच के सामने पेश हुए, जहां उनसे मामले की जांच कर रहे अधिकारियों ने लगभग 7 घंटे तक पूछताछ की। पूछताछ के दौरान परम बीर सिंह खुद को पाक-साफ बताते रहे। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है और वह जांच में सहयोग करते रहेंगे।

एक निजी समाचार चैनल  से बात करते हुए परम बीर सिंह ने कहा कि मैं सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार जांच में सहयोग के लिए आया था और आगे भी सहयोग करता रहूंगा। उन्होंने न्यायालय पर विश्वास जताते हुए कहा कि मेरे खिलाफ लगे सभी आरोप झूठे हैं। मुझे न्यायपालिका पर विश्वास है। सच्चाई सामने आएगी।

वहीं, दूसरी तरफ क्राइम ब्रांच के सूत्रों के मुताबिक,  परम बीर सिंह को वापस जांच के लिए बुलाया जाएगा। हालांकि, वह जांच में सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने शिकायतकर्ता के आरोपों पर कहा कि मुझे इसकी जानकारी नहीं है।

बता दें कि मुंबई की एक अदालत ने परम बीर सिंह को भगोड़ा घोषित किया है। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने गिरफ्तारी से छूट देते हुए उन्हें जांच में शामिल होने का निर्देश भी दिया था।

क्राइम ब्रांच के अधिकारी ने बताया कि सिंह चंडीगढ़ से यहां पहुंचे। उन्होंने कहा  कि हवाई अड्डे से निकलने के बाद सिंह मुंबई पुलिस की अपराध शाखा की इकाई-11 के समक्ष पेश हुए। गोरेगांव थाने में दर्ज रंगदारी के मामले में उनका बयान दर्ज किया गया।

गौरतलब है कि उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर ‘एंटीलिया’ के बाहर एक गाड़ी से विस्फोटक मिलने के बाद दर्ज मामले में मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे की गिरफ्तारी के बाद सिंह को मार्च 2021 में मुंबई पुलिस आयुक्त पद से हटा दिया गया था। इसके बाद सिंह को होम गार्ड्स का महानिदेशक नियुक्त किया था।


मिशन यूपी: चुनाव से पहले मायावती को बड़ा झटका, विधानमंडल दल के नेता शाह आलम ने छोड़ी पार्टी, लगाया उपेक्षा का आरोप

बसपा को झटका देते हुए विधानमंडल दल के नेता शाह आलम ने खुद की उपेक्षा किए जाने का आरोप लगाते हुए पार्टी एवं समस्त पदों से इस्तीफा दे दिया है।

लखनऊ: अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं और फिलहाल माननीयों के पार्टी को छोड़ने का सिलसिला जारी है। ताजा मामले में बसपा को झटका देते हुए विधानमंडल दल के नेता शाह आलम ने खुद की उपेक्षा किए जाने का आरोप लगाते हुए पार्टी एवं समस्त पदों से इस्तीफा दे दिया है।


आजमगढ़ के मुबारकपुर से विधायक शाह आलम को मायावती ने इसी साल जून में विधानमंडल दल का नेता बनाया था। शाह आलम ने बसपा के सभी पदों से इस्तीफा दिया है। उन्होंने पार्टी की मुखिया मायावती को अपना इस्तीफा सौंपा है। 

शाह आलम ने इस्तीफे में लिखा है कि भारी मन से विधानसभा सदस्य और बसपा के हर पद से इस्तीफा दे रहा हूं। उन्होंने पार्टी की 21 नवंबर की बैठक का हवाला देते हुए लिखा है कि 2012 से पार्टी के प्रति निष्ठावान रहा और पार्टी की तरफ से मिली हर जिम्मेदारी को बखूबी निभाया भी, लेकिन लगता है मेरी उपेक्षा की जा रही है। ऐसे में अब आगे साथ रहने की कोई वजह नहीं है।

शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली आजमगढ़ के मुबारकपुर से 2012 तथा 2017 में विधानसभा का चुनाव जीते हैं। बसपा ने जमाली को 2014 में आजमगढ़ लोकसभा सीट से मुलायम सिंह यादव के खिलाफ भी मैदान में उतारा था। जमाली को दो लाख 70 हजार से अधिक वोट मिले थे।


पंजाब की चन्नी सरकार के खिलाफ सिद्धू ने दी भूख हड़ताल की धमकी, जानिए-अब किस बात पर उखड़े 'गुरू'

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि यदि उनकी सरकार ने ड्रग्स और गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी मामले में रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की तो वह भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे।

चंडीगढ़: पंजाब में कांग्रेस में चल रही कलह शायद अभी खत्म नहीं हुई है। खासकर पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू नए सीएम चरणजीत सिंह चन्नी से भी नाखुश हैं और चन्नी सरकार द्वारा लिए जा निर्णयों से दुखी हैं। उन्होंने अब चन्नी सरकार के खिलाफ भूख हड़ताल करने की धमकी दी है।

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा है कि यदि उनकी सरकार ने ड्रग्स और गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी मामले में रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की तो वह भूख हड़ताल पर बैठ जाएंगे।

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू का अपनी ही पार्टी की सरकार से उलझना नया नहीं है। कैप्टन अमरिंदर सिंह से लंबे समय तक उनकी तनातनी चली और अंत में अमरिंदर ने पार्टी छोड़ दी। अमरिंदर के बाद सीएम बनाए गए चन्नी से भी सिद्धू की नहीं बन रही है।

गौरतलब है कि सिद्धू ने हाल ही में पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया था। हालांकि, इसे उन्होंने वापस ले लिया है। हाल ही में जब चन्नी उन्हें लेकर करतारपुर नहीं गए तो एक बार फिर दोनों के बीच टकराव सामने आ गया।


नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट: 30 जिले की 4 एक्सप्रेसवे के जरिए सीधी कनेक्टिविटी, 2024 में भरी जाएगी पहली उड़ान

इस एयरपोर्ट से 2024 में पहली उड़ान भरी जाएगी। पहले चरण का काम तब तक पूरा जाएगा। यह हवाई अड्डा दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से 72 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

गौतमबुद्धनगर: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का शिलान्यास किया। भाजपा को इस एयरपोर्ट के जरिए जहां चुनावी उड़ान मिलने की उम्मीद है तो वहीं पश्चिम यूपी, हरियाणा के कुछ जिलों और एनसीआर के लिए यह हवाई अड्डा बेहद अहम रहने वाला है। इससे एक तरफ दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पर दबाव कम होगा तो वहीं एनसीआर के बड़े हिस्से के लोगों को अपने नजदीक से ही फ्लाइट मिल सकेगी।

तो आइए जानते हैं कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट से आम लोगों को क्या लाभ मिलेंगे:

1. यूपी के 30 जिले सीधे जुड़ेंगे

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट आगरा, मेरठ, मथुरा, गाजियाबाद, नोएडा, अलीगढ़, बुलंदशहर, हाथरस समेत पश्चिम यूपी और ब्रज क्षेत्र के करीब 30 जिलों को जोड़ेगा। इस एयरपोर्ट पर नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, आगरा समेत कई जिलों से पहुंचना बेहद आसान होगा।

2. हरियाणा के नजदीकी शहरों को फायदा

इसके अलावा हरियाणा के भी नजदीकी शहरों के लोगों को इस एयरपोर्ट से सुविधा मिलेगी। इससे क्षेत्र के विकास पर कितना असर पड़ेगा, इसे इससे ही समझा जा सकता है कि आसपास के गांवों में प्रॉपर्टी के रेट तेजी से बढ़े हैं। इसके अलावा इन्फ्रास्ट्रक्चर का विकास भी तेजी से हुआ है।

3. चार एक्सप्रेस वे से कनेक्टिीविटी

कनेक्टिंग फ्लाइट्स से बचने के लिए लोग बड़ी संख्या में इसका इस्तेमाल करेंगे। इसकी वजह यह भी है कि एयरपोर्ट की 4 एक्सप्रेसवे से सीधे कनेक्टिविटी होगी, जिससे लोगों के लिए यहां पहुंचना आसान होगा। यमुना एक्सप्रेसवे, आगरा लखनऊ एक्सप्रेसवे, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे और बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे इससे सीधे तौर पर जुड़ेंगे।

4. 2024 में भरी जाएगी पहली उड़ान

इस एयरपोर्ट से 2024 में पहली उड़ान भरी जाएगी। पहले चरण का काम तब तक पूरा जाएगा। यह हवाई अड्डा दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट से 72 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।


PM मोदी ने किया 'नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे' का शिलान्यास किया, कही ये बड़ी बातें

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेवर में 'नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे' का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उनके साथ सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

गौतमबुद्धनगर: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जेवर में 'नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे' का शिलान्यास किया। इस अवसर पर उनके साथ सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

Image

इस मौके पर पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि 21वीं सदी का भारत एक से बढ़कर एक आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहा है। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट कनेक्टिविटी के जरिए बेहतर मॉडल बनेगा। यह उत्तर भारत का लॉजिस्टिक गेटवे बनेगा। यह पूरे क्षेत्र को नेशनल गतिशक्ति मास्टर प्लान का प्रतिबिंब बनाएगा

पीएम मोदी ने आगे कहा कि नोएडा इंटरनेशन एयरपोर्ट निर्यात के बहुत बड़े केंद्र को अंतरराष्ट्रीय बाज़ारों से सीधे जोड़ेगा। यहां के किसान फल, सब्ज़ी, मछली जैसी ज़ल्दी खराब होने वाली उपज को सीधे निर्यात कर पाएंगे। उन्होंने आगे कहा कि आज़ादी के 7 दशक बाद पहली बार उत्तर प्रदेश को वो मिलना शुरू हुआ है, जिसका वह हमेशा से हकदार रहा है। डबल इंजन की सरकार के प्रयासों से आज उत्तर प्रदेश देश के सबसे कनेक्टेड क्षेत्र में परिवर्तित हो रहा है।

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने आगे कहा कि आज देश और दुनिया के निवेशक कहते हैं कि उत्तर प्रदेश यानी, उत्तम सुविधा, निरंतर निवेश। आने वाले 2-3 सालों में जब जेवर एयरपोर्ट शुरू हो जाएगा, उस वक्त उत्तर प्रदेश 5 अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे वाला राज्य बन जाएगा।

Image

उन्होंने आगे कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर हमारे लिए राजनीति का नहीं बल्कि राष्ट्रनीति का हिस्सा है। हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि योजनाएं अटके नहीं, लटके नहीं, भटके नहीं। हम यह सुनिश्चित करने का प्रयास करते हैं कि तय समय के भीतर ही इंफ्रास्ट्रक्चर का काम पूरा किया जाए।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ने कही ये बात

Image

इस मौके पर केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री का निर्देश था कि एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा बनेगा तो उत्तर प्रदेश के जेवर में बनेगा। यहां आने वाले दिनों में 34,000 करोड़ से भी ज़्यादा का निवेश होगा। जेवर एयरपोर्ट को रोड़, रेल, मेट्रो, बस सेवा से जोड़ा जाएगा।

Image


वसूली कांड: परम बीर सिंह मुंबई पहुंचे, महाराष्ट्र के गृह मंत्री ने कसा तंज, कही ये बात

परम बीर सिंह के मुंबई पहुंचते ही महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वाल्से ने उनपर कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि बहुत अचरज की बात है कि जो व्यक्ति राज्य के पुलिस प्रमुख रहे, मुंबई और ठाणे पुलिस के प्रमुख रहे। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी पुलिस में बिता दी, उन्हें डर लग रहा है।

मुंबई: मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह मुंबई पहुंच गए हैं। उन्हें मुंबई की एक अदालत ने फरार घोषित कर दिया था। वह महाराष्ट्र में कई मामलों में रंगदारी के आरोपों का सामना कर रहे हैं। इससे पहले परम बीर सिंह ने एक निजी समाचार चैनल से खुद के चंडीगढ़ में होने की जानकारी दी थी और कहा था कि वह जल्द ही जांच में शामिल होंगे।

वहीं, परम बीर सिंह के मुंबई पहुंचते ही महाराष्ट्र के गृहमंत्री दिलीप वाल्से ने उनपर कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि बहुत अचरज की बात है कि जो व्यक्ति राज्य के पुलिस प्रमुख रहे, मुंबई और ठाणे पुलिस के प्रमुख रहे। उन्होंने अपनी पूरी जिंदगी पुलिस में बिता दी, उन्हें डर लग रहा है।

बताते चलें कि सुप्रीम कोर्ट में परम बीर सिंह के वकील द्वारा यह कहा गया था कि उन्हें मुंबई में जान का खतरा बना हुआ है और उन्हें किसी और से नहीं बल्कि मुंबई पुलिस से ही जान का खतरा है। जिसके बाद अब महाराष्ट्र के गृह मंत्री दिलीप वाल्से ने कहा है कि अगर उनको खतरा लग रहा है, तो किनसे खतरा है और क्या खतरा है, वो कुछ बताएंगे तो देखेंगे।


हरियाणा के यमुनानगर में आगजनी, 4 लोगों की मौत, 4 को बचाया गया

हरियाणा के यमुनानगर में हुई आज एक आगजनी की घटना में 4 लोग जिंदा जलकर मर गए जबकि 4 लोगों को दमकलकर्मियों ने बड़ी ही मशक्कत के बाद बचाने में सफलता हासिल की। बताया जा रहा है कि आग एक कबाड़ की दुकान में अज्ञात कारणों से लगी।

यमुनानगर: हरियाणा के यमुनानगर में हुई आज एक आगजनी की घटना में 4 लोग जिंदा जलकर मर गए जबकि 4 लोगों को दमकलकर्मियों ने बड़ी ही मशक्कत के बाद बचाने में सफलता हासिल की। बताया जा रहा है कि आग एक कबाड़ की दुकान में अज्ञात कारणों से लगी।

घटना को लेकर दमकल अधिकारी प्रमोद कुमार ने बताया, "सूचना मिली कि कबाड़ की दुकान में आग लग गई है। हमने 2 दलकल की गाड़ियों को मौके पर भेजा। जब यहां आकर देखा तो आग काफ़ी ज्यादा थी, तो 4 और गाड़ियां बुलाई गई।"

दमकल अधिकारी ने आगे बताया कि घटना स्थल पर 4 लोगों के फंसने की सूचना मिली थी। जिसके बाद स्थानीय लोगों की मदद से 3 बच्चों को और 1 आदमी को बाहर निकाल कर अस्पताल में भर्ती करवाया गया।


आज देश के सबसे बड़े हवाई अड्डे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की आधारशिला रखेंगे PM मोदी

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की आधारशिला रखेंगे। पीएम मोदी के दौरे को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं। कार्यक्रम में सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी शामिल होंगी।

गौतमबुद्धनगर: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के सबसे बड़े अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट की आधारशिला रखेंगे। पीएम मोदी के दौरे को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं। कार्यक्रम में सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी शामिल होंगी।

गौतमबुद्धनगर के  जेवर में बन रहे हवाई अड्डे का नाम नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा और इसकी इंदिरा गांधी हवाई अड्डे से दूरी 72 किलोमीटर की होगी। इसके अलावा नोएडा से इसकी दूरी 40 किलोमीटर होगी और दादरी से भी इतना ही डिस्टेंस रहेगा। लगभग 3,000 एकड़ में बन रहा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट देश में सबसे बड़ा होगा। पीएम नरेंद्र मोदी आज यानी 25 नवंबर को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का भूमि पूजन करेंगे।


नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनने से एक तरफ दिल्ली के हवाई अड्डे पर दबाव कम होगा। इसके अलावा आगरा, मथुरा समेत पश्चिम यूपी के कई जिलों के लोगों को इससे सुविधा होगी।

जेवर एयरपोर्ट में कुल 4 हेलिपैड और 5 रनवे बनाए जाएंगे। इस हवाई अड्डे से दिल्ली-एनसीआर के हवाई यात्रियों को सुविधा होगी। 3 हजार किलोमीटर के दायरे में बन रहे जेवर एयरपोर्ट के निर्माण से इन्फ्रास्ट्रक्चर के मामले में उत्तर प्रदेश एक लंबी छलांग लगा लेगा।


वीडियो: खुली जीप में पटना की सड़कों पर लालू यादव ने भरा फर्राटा, 'गीता ज्ञान' भी दिया

लालू प्रसाद यादव मंगलवार रात से ही अपनी पुरानी जीप चलाने की जिद कर रहे थे, लेकिन जीप ठीक होने गई हुई थी। ऐसे में जैसे ही बुधवार सुबह जीप बनकर उनके घर पहुंची, लालू प्रसाद यादव उसकी ड्राइविंग सीट पर सवार हो गए और जीप लेकर पटना की सड़कों पर निकल पड़े।

पटना: आरजेडी चीफ लालू यादव  शरीर और उम्र से बेशक बुजुर्ग हो चुके  हैं लेकिन उनका दिल आज भी जवां है। इसका ताजा उदाहरण आज उस समय देखने को मिला जब वह खुली जीप लेकर पटना की सड़कों पर फर्राटा भरते दिखाई दिए।

इस दौरान लालू यादव के साथ कुछ सुरक्षाकर्मी और नेता भी सड़कों के किनारे दिखे। किसी भी प्रकार की अनहोनी न हो जाये इसके लिए जीप के साथ साथ एक्सपर्ट भी दौड़ रहे थे।

जानकारी के मुताबिक, लालू प्रसाद यादव मंगलवार रात से ही अपनी पुरानी जीप चलाने की जिद कर रहे थे, लेकिन जीप ठीक होने गई हुई थी। ऐसे में जैसे ही बुधवार सुबह जीप बनकर उनके घर पहुंची, लालू प्रसाद यादव उसकी ड्राइविंग सीट पर सवार हो गए और जीप लेकर पटना की सड़कों पर निकल पड़े।

जीप ड्राइविंग के बाद राजद प्रमुख ने ट्विटर पर गीता का ज्ञान भी समझाया। उन्होंने ड्राइविंग की वीडियो अपलोड करते हुए लिखा- 'आज वर्षों बाद अपनी प्रथम गाड़ी को चलाया। इस संसाद में जन्में सभी लोग किसी ना किसी रूप में ड्राइवर ही तो हैं। आपके जीवन में प्रेम, सद्भाव, सौहार्द, समता, समृद्धि, शांति, सब्र, न्याय और खुशहाली रूपी गाड़ी सबको साथ लेकर सदा मजे से चलती रहे।'


वसूली कांड: भागे नहीं हैं मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह, कहा-'चंडीगढ़ में हूँ जल्द जाँच में होऊंगा शामिल'

एक निजी समाचार चैनल से बातचीत में परम बीर सिंह कहा कि वह चंडीगढ़ में हैं और जल्द ही मुंबई में उनके खिलाफ चल रहे मामलों की जांच में शामिल होंगे।

मुम्बई: वसूली कांड में तमाम तरह के आरोपों का सामना कर रहे मुम्बई पुलिस के पूर्व पुलिस कमिश्नर परम बीर सिंह ने कहा है कि वह चंडीगढ़ में हैं और जल्द ही जांच में शामिल होंगे। 

एक निजी समाचार चैनल से बातचीत में परम बीर सिंह कहा कि वह चंडीगढ़ में हैं और जल्द ही मुंबई में उनके खिलाफ चल रहे मामलों की जांच में शामिल होंगे। बता दें कि परम बीर सिंह के खिलाफ मुंबई और ठाणे में पांच मामले दर्ज हैं। 

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को परम बीर सिंह को कथित जबरन वसूली के एक मामले में गिरफ्तारी से सुरक्षा प्रदान की थी। कोर्ट ने इसे मंजूर करते हुए परम बीर सिंह को जांच में शामिल होने का निर्देश दिया था।

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान परम बीर सिंह के वकील ने कहा था कि वह देश में ही हैं। उनके वकील ने कहा था, "वह फरार नहीं होना चाहते हैं। वह भागना नहीं चाहते हैं। हालांकि, मुद्दा यह है कि जैसे ही वह महाराष्ट्र में प्रवेश करेंगे, उनके जीवन के लिए एक बहुत ही वास्तविक खतरा है।"


बताते चलें कि पिछले हफ्ते, परमबीर सिंह को मुंबई की एक मजिस्ट्रेट अदालत ने "घोषित अपराधी" घोषित किया था। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा रखी है।

मार्च 2021 में बर्खास्त किए गए पुलिस अधिकारी सचिन वाझे की गिरफ्तारी के बाद परमबीर सिंह को मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटा दिया गया था। वाझे को मुंबई में उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के पास विस्फोटकों से लदी एक गाड़ी के मामले में गिरफ्तार किया गया था।


मिशन यूपी: BSP-कांग्रेस को तगड़ा झटका, अदिती सिंह और वंदना सिंह ने थामा भाजपा का दामन

अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर अभी से ही दल बदलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। माननीयों का एक दल से दूसरे दल में जाने का काम जारी है। ताजा मामले में अदिती सिंह ने कांग्रेस को झटका देते हुए और वंदना सिंह ने बसपा को झटका देते हुए भाजपा का दामन थाम लिया है।

लखनऊ: अगले साल उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर अभी से ही दल बदलने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। माननीयों का एक दल से दूसरे दल में जाने का काम जारी है। ताजा मामले में अदिती सिंह ने कांग्रेस को झटका देते हुए और वंदना सिंह ने बसपा को झटका देते हुए भाजपा का दामन थाम लिया है।

रायबरेली की सदर सीट से कांग्रेस की बागी विधायक अदिति सिंह और आजमगढ़ के सगड़ी से बसपा विधायक वंदना सिंह ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सदस्यता ग्रहण कर ली है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के समक्ष पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में बुधवार को शाम विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता भाजपा की सदस्यता ग्रहण करेंगे।

बता दें कि रायबरेली सदर से कांग्रेस की विधायक अदिति सिंह काफी समय से कांग्रेस की आलोचना और भारतीय जनता पार्टी की सरकार की नीतियों की सराहना करती आ रही हैं। इसके लिए कांग्रेस पार्टी उनको नोटिस भी दे चुकी है। पिछले दिनों तो अदिति सिंह ने साफ कह दिया था कि वह सीएम योगी आदित्यनाथ की टीम का हिस्सा बनना चाहती हैं। उन्होंने कहा कि सीएम योगी सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री हैं और उनकी टीम का हिस्सा बनकर अपनी विधानसभा के लिए ज्यादा बेहतर कर सकूंगी।

दूसरी तरफ, अदिती सिंह के भाजपा में जाने का बड़ा नुकसान उनके पति अंगद सिंह सैनी को हो सकता है, जो पंजाब की नवांशहर सीट से विधायक हैं। रायबरेली, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है। ऐसे में अदिति का पालाबदल उनके पति के लिए भारी पड़ सकता है।


मिशन यूपी: अखिलेश यादव का बड़ा वादा, कहा-'किसान आंदोलन में मरे किसानों के परिजनों को दूंगा 25-25 लाख का मुआवजा'

अखिलेश ने ट्वीट करके इसकी जानकार दी। अखिलेश ने लिखा कि किसान का जीवन अनमोल होता है क्योंकि वो ‘अन्य’ के जीवन के लिए ‘अन्न’ उगाता है। हम वचन देते हैं कि 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार आते ही किसान आंदोलन के शहीदों को 25 लाख की ‘किसान शहादत सम्मान राशि’ दी जाएगी।

लखनऊ: अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं और सभी राजनीतिक पार्टियां आम जनता से लोक लुभावने वादे कर रही हैं। इसी क्रम में आज यूपी के पूर्व सीएम और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने आज एक बहुत की बड़ा चुनावी वादा किसानों से किया है। उन्होंने कहा कि अगर सपा यूपी की सत्ता में आती है तो किसान प्रदर्शन के दौरान मरे किसानों के परिजनों को 25-25 लाख रुपए बतौर मुआवजा देंगे।


अखिलेश ने ट्वीट करके इसकी जानकार दी। अखिलेश ने लिखा कि किसान का जीवन अनमोल होता है क्योंकि वो ‘अन्य’ के जीवन के लिए ‘अन्न’ उगाता है। हम वचन देते हैं कि 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार आते ही किसान आंदोलन के शहीदों को 25 लाख की ‘किसान शहादत सम्मान राशि’ दी जाएगी। 


बता दें कि किसानों को लेकर अखिलेश लगातार बीजेपी पर हमले कर रहे हैं। इससे पहले अखिलेश यादव ने कहा था कि अमीरों की भाजपा ने भूमिअधिग्रहण व काले कानूनों से गरीबों-किसानों को ठगना चाहा। कील लगाई, बाल खींचते कार्टून बनाए, जीप चढ़ाई लेकिन सपा की पूर्वांचल की विजय यात्रा के जन समर्थन से डरकर काले-कानून वापस ले ही लिए। भाजपा बताए सैकड़ों किसानों की मौत के दोषियों को सजा कब मिलेगी।


बच्चे के साथ ओरल सेक्स 'गंभीर यौन हमला नहीं': इलाहाबाद हाईकोर्ट

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी कुछ ऐसा ही डिसीजन लिया है। डिसजन के तहत इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यह कहा है कि किसी बच्चे के साथ ओरल सेक्स 'गंभीर यौन हमला' नहीं है बल्कि यह अपराध को पोक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत दंडनीय मानना सही है।

प्रयागराज: कभी-कभी न्यायालय भी ऐसे-ऐसे आदेश दे देती है कि लोगों का माथा ठनक जाता है। ताजा मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी कुछ ऐसा ही डिसीजन लिया है। डिसजन के तहत इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यह कहा है कि किसी बच्चे के साथ ओरल सेक्स 'गंभीर यौन हमला' नहीं है बल्कि यह अपराध को पोक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत दंडनीय मानना सही है।



बच्चे के साथ ओरल सेक्स के एक मामले की सुनवाई करते हुए इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने इस अपराध को 'गंभीर यौन हमला' नहीं माना है। कोर्ट ने इस प्रकार के अपराध को पोक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत दंडनीय माना है।

Image

मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा है कि यह कृत्य एग्रेटेड पेनेट्रेटिव सेक्सुअल असॉल्ट या गंभीर यौन हमला नहीं है। लिहाजा ऐसे मामले में पोक्सो एक्ट की धारा 6 और 10 के तहत सजा नहीं सुनाई जा सकती। 


ड्रग्स माफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्यवाई, समीर वानखेड़े की टीम ने पकड़ा ड्रग्स, बड़े पैमाने पर अफीम हुई बरामद

समीर वानखेड़े की टीम ने नांदेड़ जिले के कंधार में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। यहां से एनसीबी टीम ने 1.4 किलो अफीम बरामद की है। इसके अलावा 111 किलो पॉपी स्ट्रॉ भी पकड़ा गया है।

मुंबई: क्रूज पर ड्रग्स पार्टी मामले का भंडाफोड़ करने वाले एनसीबी अफसर समीर वानखेड़े की टीम ने महाराष्ट्र ने नांदेड़ में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। टीम ने बड़ी मात्रा में अफीम और पॉपी स्ट्रा बरामद किया है।

समीर वानखेड़े की टीम ने नांदेड़ जिले के कंधार में ड्रग्स के एक ठिकाने का भंडाफोड़ किया है। यहां से एनसीबी टीम ने 1.4 किलो अफीम बरामद की है। इसके अलावा 111 किलो पॉपी स्ट्रॉ भी पकड़ा गया है। 

इतना ही नहीं 1.55 लाख रुपये और 2 ग्राइंडिंग भी पकड़ी गई हैं। समीर वानखेड़े ने कहा कि इन मशीनों का इस्तेमाल पॉपी सीड्स की ग्राइंडिंग के लिए किया जाता था। यही नहीं नोट गिनने की मशीन भी पकड़ी गई है। समीर वानखेड़े ने कहा कि सोमवार को की गई छापेमारी के दौरान इन चीजों को पकड़ा गया है।

बता दें कि इस मामले में अब तक तीन लोगों को पकड़ा गया है। ड्रग्स के सप्लायर्स को पकड़ने के लिए ऑपरेशन चलाया जा रहा है। मुंबई जोन एनसीबी डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने कहा कि इस साल का यह 99वां मामला है।


सीएए के नाम पर लोगों को भड़काने वालों से सख्ती से निबटेंगे: CM योगी

आज उन्होंने कानपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए सपा और अखिलाश यादव पर जमकर हमला बोला। साथ ही योगी ने चेतावनी दी है कि अगर सीएए के नाम पर लोगों को भड़काने का प्रयास किया जाता है तो भड़काने वाले शख्स के खिलाफ सख्त कार्यवाही सरकार करेगी।

कानपुर: अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं और भाजपा जी जान से प्रचार करने में जुटी हुई है। सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ खुद लगातार रैलियां कर रहे हैं। आज उन्होंने कानपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए सपा और अखिलाश यादव पर जमकर हमला बोला। साथ ही योगी ने चेतावनी दी है कि अगर सीएए के नाम पर लोगों को भड़काने का प्रयास किया जाता है तो भड़काने वाले शख्स के खिलाफ सख्त कार्यवाही सरकार करेगी।

सीएम योगी ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्राकृतिक संपदा से भरपूर ये क्षेत्र UP और देश के विकास का आधार बन सकता था लेकिन आज़ादी के बाद परिवारवादी, जातिवादी सोच के लोगों ने सामाजिक ताने-बाने को छिन्न-बिन्न किया और अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए इस क्षेत्र के विकास को भी बाधित करने में कोई कोताही नहीं बरती।

सीएम योगी ने आगे कहा कि कानपुर में अगर मां गंगा का आशीर्वाद प्राप्त है तो चित्रकूट अपने सौंदर्य और वन संपदा के साथ भगवान श्री राम को वनवास के कालखंड में आश्रय देने के एक पवित्र धार्मिक स्थल के रूप भी हम सबके लिए विख्यात है।

सीएम योगी ने सपा और अखिलेश यादव पर हमला बोलते हुए कहा कि मैं चाचा जान और अब्बा जान के अनुयायियों से कहूंगा कि अगर प्रदेश की भावनाओं को भड़का कर माहौल खराब करोगे तो सरकार शक्ति के साथ निपटना भी जानती है। हर व्यक्ति जानता है कि ओवैसी समाजवादी पार्टी के एजेंट बनकर प्रदेश में भावनाओं को भड़काने का काम कर रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि प्रदेश में 2017 के पहले हर तीसरे-चौथे दिन दंगे होते थे। मैं आज उस व्यक्ति को चेतावनी दूंगा जो यहां पर सीएए के नाम पर फिर से भावनाओं को भड़काने का काम कर रहा है।


देश का सबसे बड़ा अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, 25 नवंबर को पीएम मोदी करेंगे भूमि पूजन

लगभग 3,000 एकड़ में बन रहा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट देश में सबसे बड़ा होगा। पीएम नरेंद्र मोदी 25 नवंबर को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का भूमि पूजन करेंगे।

नोएडा: गौतमबुद्धनगर के  जेवर में बन रहे हवाई अड्डे का नाम नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा और इसकी इंदिरा गांधी हवाई अड्डे से दूरी 72 किलोमीटर की होगी। इसके अलावा नोएडा से इसकी दूरी 40 किलोमीटर होगी और दादरी से भी इतना ही डिस्टेंस रहेगा। लगभग 3,000 एकड़ में बन रहा नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट देश में सबसे बड़ा होगा। पीएम नरेंद्र मोदी 25 नवंबर को नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का भूमि पूजन करेंगे।

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट बनने से एक तरफ दिल्ली के हवाई अड्डे पर दबाव कम होगा। इसके अलावा आगरा, मथुरा समेत पश्चिम यूपी के कई जिलों के लोगों को इससे सुविधा होगी।जेवर एयरपोर्ट में कुल 4 हेलिपैड और 5 रनवे बनाए जाएंगे। इस हवाई अड्डे से दिल्ली-एनसीआर के हवाई यात्रियों को सुविधा होगी। 3 हजार किलोमीटर के दायरे में बन रहे जेवर एयरपोर्ट के निर्माण से इन्फ्रास्ट्रक्चर के मामले में उत्तर प्रदेश एक लंबी छलांग लगा लेगा। एक्सप्रेसवे राज्य कहलाने वाले यूपी में बीते कुछ सालों में तेजी से इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स आगे बढ़े हैं।

एक्सप्रेस वे के मामले में यूपी नंबर 1 पर

देश का सबसे बड़ा पूर्वांचल एक्सप्रेसवे भी फिलहाल उत्तर प्रदेश में ही है, जिसका हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था। इससे पहले भी यूपी के ही आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे को यह दर्जा हासिल था। फिलहाल यूपी में यमुना एक्सप्रेसवे, लखनऊ एक्सप्रेसवे और पूर्वांचल एक्सप्रेसवे चल रहे हैं। इसके अलावा बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, गंगा एक्सप्रेसवे और गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे पर काम चल रहा है।

इस तरह राज्य में कुल 6 एक्सप्रेसवे अगले कुछ सालों में हो जाएंगे। यही नहीं दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का भी बड़ा हिस्सा उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद, हापुड़ और मेरठ जैसे जिलों से ही गुजरता है। मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे के जरिए पहचान हासिल करने वाले महाराष्ट्र में भी फिलहाल तीन ही एक्सप्रेसवे हैं और इस लिहाज से देखें तो यूपी ने गुजरात, हरियाणा, पंजाब जैसे कई समृद्ध राज्यों पर एक्सप्रेसवे के मामले में बढ़त हासिल की है।


दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर फर्राटा भरने वाले लोगों की लिए बुरी खबर, जल्द बंद होगा फ्री का सफर, देना होगा Toll Tax

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) अगले महीने से एक्सप्रेसवे पर टोल लगाने की तैयारी में है।

नई दिल्ली: अगर आप भी दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे पर फर्राटा भरते हैं तो ये खबर आपके लिए ही है। दरअसल, अब आपको जेब ढीली करनी पड़ेगी और टोल टैक्स भरना पड़ेगा।

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) अगले महीने से एक्सप्रेसवे पर टोल लगाने की तैयारी में है। बताया जा रहा है कि सड़क परिवहन मंत्रालय से प्रोजेक्ट का काम जल्द पूरा करने को कहा है। इसके लिए निर्माण एजेंसी और रेलवे के अधिकारियों से वार्ता तक चिपियाना रेलवे ओवर ब्रिज (आरओबी) का काम समय से पूरा किए जाने को कहा गया है। 


विभागीय अधिकारियों का कहना है कि दिसंबर में प्रधानमंत्री का मेरठ में कार्यक्रम है, जिसमें प्रोजेक्ट का लोकार्पण कराए जाने की तैयारी है। एक तरह से विधिवत तौर पर प्रोजेक्ट राष्ट्र को समर्पित कर दिया जाएगा। उसके बाद दिल्ली से मेरठ के बीच टोल लगाने का रास्ता भी साफ हो जाएगा।

बता दें कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के तीन चरणों पर अभी कोई टोल नहीं लिया जा रहा है। तीसरे चरण में डासना से हापुड़ के बीच छिजारसी में जरूर टोल लिया जा रहा है। शेष चरणों में टोल वसूली के लिए एनएचएआई ने 18 अगस्त को सड़क एवं परिवहन मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा था जिस पर मंत्रालय ने यह कहते हुए स्वीकृति देने का इंकार कर दिया था कि प्रोजेक्ट के चौथे हिस्से (डासना-मेरठ) के बीच सड़क टूटी पड़ी है। इसके साथ ही दूसरे चरण (यूपी गेट-डासना) के बीच चिपियाना में काम अधूरा है। 

इसके बाद एनएचएआई ने करीब डेढ़ महीने में चौथे चरण में सड़क की मरम्मत का काम पूरा किया था। साथ ही दूसरे चरण में चिपियाना में मेरठ से दिल्ली की तरफ आने वाले आरओबी को यातायात के लिए खोल दिया था। इसके बाद अक्तूबर में फिर से टोल लगाने का प्रस्ताव भेजा गया लेकिन मंत्रालय से अभी तक स्वीकृति नहीं मिली है। 

अब मंत्रालय ने एनएचएआई से प्रोजेक्ट को जल्द पूरा करने को कहा है। एनएचएआई से कहा गया है कि वो 20 दिसंबर तक प्रोजेक्ट का काम पूरा करे। इसके लिए अगर किसी अन्य विभाग से बातचीत करनी है तो वो भी प्राथमिकता के आधार पर की जाए, जिससे कि प्रोजेक्ट को समय पर पूरा किया जाए।


अखिलेश यादव ने धूम-धाम से मनाया पिता मुलायम का जन्मदिन, शिवपाल रहे नदारद

दशकों तक नेताजी के साथ परछाईं की तरह रहने वाले शिवपाल अकेले सैफई में मौजूद थे। उन्होंने गांव में ही नेताजी के जन्मदिन के मौके पर केक काटा और भाषण में एक तरफ सबको शुभकामनाएं दीं तो अखिलेश को अल्टीमेटम देते नजर आए।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का जन्मदिन था। अखिलेश यादव ने उनका जन्मदिन लखनऊ में धूम-धाम से मनाया लेकिन शिवपाल यादव आज यहां पिछड़ गए और वह सैफई में थे।

सोमवार को मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन के मौके पर सामने आईं तस्वीरें तो कुछ ऐसा ही संकेत देती हैं। लखनऊ स्थित सपा मुख्यालय में अखिलेश यादव पिता और पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव के बेहद करीब नजर आए।

अखिलेश यादव ने पहले शॉल ओढ़ाकर उन्होंने नेताजी का सम्मान किया और फिर हाथ पकड़कर केक कटवाया। दोनों के बीच इस दौरान गजब की बॉन्डिंग देखने को मिली और मुलायम सिंह यादव बेटे को आशीर्वाद देते नजर आए। इस दौरान अखिलेश के करीबी कहे जाने वाले परिवार के ही एक और सदस्य राज्यसभा सांसद रामगोपाल यादव भी मौजूद थे।

लखनऊ में एक तरफ सपा मुख्यालय में अखिलेश ने धूमधाम से पिता का जन्मदिन मनाया तो दशकों तक नेताजी के साथ परछाईं की तरह रहने वाले शिवपाल अकेले सैफई में मौजूद थे। उन्होंने गांव में ही नेताजी के जन्मदिन के मौके पर केक काटा और भाषण में एक तरफ सबको शुभकामनाएं दीं तो अखिलेश को अल्टीमेटम देते नजर आए।

शिवपाल यादव ने साफ कहा कि यदि अखिलेश यादव एक सप्ताह के भीतर उनकी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के साथ विलय या फिर गठबंधन को लेकर फैसला नहीं लेते हैं तो फिर वह लखनऊ में सम्मेलन बुलाएंगे और आगे की रणनीति पर फैसला लेंगे।


वसूली कांड: मुंबई पुलिस से ही पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह को 'जान का खतरा', गिरफ्तारी से फिलहाल SC से मिली राहत

मुंबई पुलिस के पूर्व परमबीर सिंह देश से भागे नहीं हैं। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को परमबीर सिंह के वकील ने यह जानकारी दी। वकील ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि परमबीर सिंह भारत में ही हैं और मुंबई पुलिस से जान का खतरा होने की वजह से वह सामने नहीं आ रहे हैं।

मुंबई: वसूली कांड में निचली अदालत द्वारा भगोड़ा घोषित किए गए मुंबई पुलिस के पू्र्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को अब मुंबई पुलिस से ही खतरा है। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के समक्ष कहा है कि वह कही भागे नहीं है और मुंबई में ही हैं और दो दिन के अंदर दुनिया के सामने आएंगे। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने उनपर लटक रही गिरफ्तारी की तलवार को फिलहाल टाल दिया है।

मुंबई पुलिस के पूर्व परमबीर सिंह देश से भागे नहीं हैं। सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को परमबीर सिंह के वकील ने यह जानकारी दी। वकील ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि परमबीर सिंह भारत में ही हैं और मुंबई पुलिस से जान का खतरा होने की वजह से वह सामने नहीं आ रहे हैं।

परमबीर सिंह के अधिवक्ता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि परमबीर 48 घंटे के भीतर किसी भी CBI अधिकारी या कोर्ट के सामने पेश होने को तैयार हैं। शीर्ष न्यायालय ने परमबीर सिंह की गिरफ्तारी पर फिलहाल रोक लगाते हुए मामले की अगली सुनवाई 6 दिसंबर के लिए तय की है। 

बता दें कि बता दें कि मुंबई पुलिस कमिश्नर पद से हटाए जाने के बाद परमबीर सिंह ने महाराष्ट्र के तत्कालीन गृह मंत्री अनिल देशमुख पर कई आरोप लगाए थे। परमबीर सिंह ने कहा था कि देशमुख ने उनसे मुंबई के रेस्तरां और दुकानों से हर महीने 100 करोड़ रुपये की उगाही किए जाने का आदेश दिया था। 


पठानकोट आर्मी कैंप के गेट के पास ग्रेनेड विस्‍फोट, जांच में जुटी पुलिस, CCTV फुटेज जा रही खंगाली

पंजाब के पठानकोट के आर्मी कैंप के के पास सोमवार सुबह एक ग्रेनेड फटा। यह विस्‍फोट आर्मी कैंप के त्रिवेणी गेट के पास हुआ। इससे पूरे क्षेत्र में अफरा-तफरी और सनसनी फैल गई। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने पूरे क्षेत्र को अपने कब्‍जे में ले लिया और जांच शुरू कर दी।

पठानकोट: आज पठानकोट आर्मी कैम्प के समीप ग्रेनेड बम फटने से सनसनी फैल गई हैं पुलिस के आलाधिकारी मौके पर पहुंच गए है। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है और सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक, पंजाब के पठानकोट के आर्मी कैंप के के पास सोमवार सुबह एक ग्रेनेड फटा। यह विस्‍फोट आर्मी कैंप के त्रिवेणी गेट के पास हुआ। इससे पूरे क्षेत्र में अफरा-तफरी और सनसनी फैल गई। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने पूरे क्षेत्र को अपने कब्‍जे में ले लिया और जांच शुरू कर दी।

घटना की जानकारी मिलने के बाद पठानकोट के एसएसपी पुलिस टीम के साथ पहुंचे और घटनास्‍थल की जांच की। एसएसपी सुरेंद्र लांबा ने कहा कि घटना की जांच की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज की जांच की जाएगी। ग्रेनेड किसने फेंका इस बारे में अभी पता नहीं चल पाया है।

जांच शुरू कर दी गई। यह पता नहीं चला कि वहां ग्रेनेड कैसे फटा। यह जांच की जा रही है कि ग्रेनेड किसने फेंका है। एसएसपी ने बताया कि इसके लिए सीसीटीवी के फुटेज की जांच की जा रही है। पूरे क्षेत्र में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और आसपास के क्षेत्र में तलाशी भी ली जा रही है। पुलिस आसपास के क्षेत्र के लोगों से पूछताछ भी कर रही है।


माफिया मुख्तार अंसारी पर बड़ी कार्यवाई, पत्नी की करोड़ों की संपत्ति जब्त, करीबियों पर भी गिरी गाज

लखनऊ में हुसैनगंज में विधानसभा मार्ग पर स्थित मुख्तार अंसारी की तीन करोड़ की जमीन कुर्क कर ली गई। यह जमीन मुख्तार की पत्नी अफशा अंसारी के नाम पर खरीदी गई थी।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक माफिया मुख्तार अंसारी पर योगी सरकार की कार्रवाई जारी है। रविवार को मुख्तार अंसारी पर पांच करोड़ की बड़ी चोट मारी गई।


राजधानी लखनऊ में हुसैनगंज में विधानसभा मार्ग पर स्थित मुख्तार अंसारी की तीन करोड़ की जमीन कुर्क कर ली गई। यह जमीन मुख्तार की पत्नी अफशा अंसारी के नाम पर खरीदी गई थी। 

दूसरी तरफ, मऊ में मुख्तार के दो करीबियों की दो करोड़ से ज्यादा की संपत्ति कुर्क कर ली गई। आजमगढ़ से लखनऊ पहुंची पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत 194 वर्ग मीटर की जमीन को कुर्क किया। जमीन की कीमत करीब तीन करोड़ रुपये बतायी जा रही है। इस जमीन पर पहले पेट्रोल पम्प चल रहा था। पुलिस का दावा है कि यह जमीन नजूल की है जिसे फर्जी दस्तावेजों से अवैध रूप से मुख्तार की पत्नी के नाम बेचा गया था।

आजमगढ़ के तरवां थाने में मुख्तार के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में मुकदमा दर्ज हुआ था। आजमगढ़ डीएम के आदेश पर ही विवेचक प्रशांत श्रीवास्तव टीम के साथ इस जमीन को कुर्क करने के लिये लखनऊ आये थे। विवेचक ने डीएम कार्यालय से कानूनी औपचारिकता पूरी की। 


इसके बाद विधानसभा मार्ग पर पेट्रोल पम्प के पास मुख्तार की पत्नी के नाम से खरीदी गई जमीन पर टीम पहुंची। टीम में सदर तहसीलदार, एलडीए तहसीलदार, इंस्पेक्टर हुसैनगंज अजय कुमार सिंह और आजमगढ़ स्वाट टीम प्रभारी व विवेचक प्रशांत श्रीवास्तव मौजूद रहे। 


इंदौर पुलिस ने जंगली जानवरों के अंगों की तस्करी करने वाले 5 तस्करों को दबोचा

ASP पुनीत गहलोत ने बताया,

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर जिले की पुलिस ने 5 ऐसे तस्करों को गिरफ्तार किया है जो जंगली जानवरों को मारकर उनके अंगों की तस्करी करते थे।

इंदौर में पुलिस ने तेंदुए की हत्या और उसके अंगों की ब्रिकी करने के आरोप में 5 लोगों को गिरफ़्तार किया है। ASP पुनीत गहलोत ने बताया, "हमें सूचना मिली कि कुछ लोग वन्य जीवों की हत्या कर उनके अंगों की ब्रिकी में लिप्त है। पता चला कि वे इन्हें बेचने के लिए जा रहे हैं।

एएसपी ने आगे बताया कि सूचना के प्राप्त होने पर संयुक्त पुलिस टीम ने मौके पर पहुंचकर 5 लोगों को गिरफ़्तार किया। इनके पास से तेंदुए की खाल, दर्जन भर नाखून, तेंदुए को मारने के लिए किए गए हथियार और वाहन को ज़ब्त किया गया।


PM मोदी आज करेंगे DGP कांफ्रेंस का समापन

पीएम द्वारा कहा गया कि राज्यों में आपसी टकराव व भेदभाव के छोटे-छोटे मुद्दों को सामान्य रूप से कानून-व्यवस्था के तौर पर न देखें, बल्कि उसे बड़ा षड्यंत्र के रूप में देखते हुए तत्काल कार्रवाई की जाए।

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के समक्ष देशभर के शीर्ष पुलिस अधिकारियों ने आंतरिक सुरक्षा की ऐसी बढ़ती चुनौतियों से निपटने के लिए गहन विचार-विमर्श किया।

इस दौरान पीएम द्वारा कहा गया कि राज्यों में आपसी टकराव व भेदभाव के छोटे-छोटे मुद्दों को सामान्य रूप से कानून-व्यवस्था के तौर पर न देखें, बल्कि उसे बड़ा षड्यंत्र के रूप में देखते हुए तत्काल कार्रवाई की जाए। 


पीएम की लगभग 12 घंटे की मौजूदगी में चले मंथन की मंशा यही है कि आतंकी मंसूबों को भारत अब और मजबूती से कुचलने के लिए तैयार होगा। लखनऊ में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को दिनभर आंतरिक सुरक्षा के साथ-साथ आतंकवाद, साइबर अपराध, तटीय सुरक्षा, नक्सलवाद, मादक पदार्थों की तस्करी के बदलते तरीकों व अन्य चुनौतियों पर न सिर्फ गहन मंथन किया, बल्कि अहम सुझाव भी दिए। इनसे निपटने के लिए की जा रही तैयारियों को भी परखा। 


इस दौरान खासकर सीमा पर प्रवास, देश को बदनाम करने के लिए विदेश से हो रही फंडिंग तथा इसमें विभिन्न एनजीओ की भूमिका को लेकर भी विस्तार से चर्चा हुई। साथ ही राज्यों की पुलिस व जांच एजेंसियों के बीच आपसी समन्वय को बढ़ाने की बात दोहराई गई। प्रधानमंत्री रविवार को तीन दिवसीय सम्मेलन का समापन करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मोदी शनिवार सुबह करीब 9.20 बजे राजभवन से गोमतीनगर विस्तार स्थित पुलिस मुख्यालय पहुंचे और रात करीब 8.45 बजे तक मौजूद रहे। यह पहला मौका था, जब प्रधानमंत्री ने किसी पुलिस मुख्यालय में लगभग 12 घंटे बिताए। 

तीन दिवसीय 56वें पुलिस महानिदेशक/महानिरीक्षक सम्मेलन के दूसरे दिन प्रधानमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल की मौजूदगी में आंतरिक सुरक्षा की चुनौतियों पर मंथन किया। उनके समक्ष अलग-अलग चुनौतियों व उनसे निपटने की तैयारियों को लेकर प्रस्तुतिकरण किए गए। 


राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों के डीजीपी, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों व केंद्रीय पुलिस संगठनों के प्रमुखों के अलग-अलग समूह बनाए गए हैं, जिनके साथ प्रधानमंत्री ने चाय व नाश्ते के दौरान चर्चा की। पीएम रात्रिभोज के बाद पुलिस मुख्यालय से राजभवन के लिए रवाना हो गए।


हरियाणा की खट्टर सरकार का बड़ा फैसला, आरक्षण के लिए तय किए नए मानक

हरियाणा में अब छह लाख रुपये से अधिक सालाना कमाई वाले पिछड़ा वर्ग के परिवारों को सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा। प्रथम और द्वितीय श्रेणी अधिकारियों के परिजन भी आरक्षण का लाभ नहीं उठा सकेंगे।

चंडीगढ़: हरियाणा में अब छह लाख रुपये से अधिक सालाना कमाई वाले पिछड़ा वर्ग के परिवारों को सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में आरक्षण का लाभ नहीं मिलेगा। प्रथम और द्वितीय श्रेणी अधिकारियों के परिजन भी आरक्षण का लाभ नहीं उठा सकेंगे। 

इसी तरह सेना में मेजर या इससे ऊपर के अधिकारियों और वायुसेना व नौसेना में समकक्ष स्तर के अधिकारियों के आश्रितों को आरक्षण से बाहर कर दिया गया है। निर्धारित सीमा से अधिक जमीन और पिछले तीन साल में एक करोड़ रुपये से अधिक संपदा वाले लोगों को भी आरक्षण नहीं दिया जाएगा।

अनुसूचित जातियां एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के प्रधान सचिव विनित गर्ग ने क्रीमीलेयर को लेकर नई अधिसूचना जारी कर दी है। राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति, संघ लोक सेवा आयोग और राज्य लोक सेवा आयोग के सदस्यों, मुख्य निर्वाचन आयुक्त, नियंत्रक महालेखा परीक्षक सहित अन्य संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों के साथ ही सांसद और विधायकों के परिजनों को भी आरक्षण के लाभ से वंचित कर दिया गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने बीती 24 अगस्त को प्रदेश सरकार द्वारा क्रीमीलेयर को लेकर 17 अगस्त 2016 और 28 अगस्त 2018 को जारी की गई अधिसूचनाओं पर ऐतराज जताते हुए इन्हें रद कर दिया था। साथ ही इंद्रा साहनी मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले और हरियाणा पिछड़ा वर्ग आरक्षण अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार तीन महीने के अंदर नई अधिसूचना लाने का निर्देश दिया था। इसके बाद प्रदेश सरकार ने नए सिरे से क्रीमीलेयर तय की है। केंद्र सरकार ने आठ लाख रुपये से कम वार्षिक आय वालों को आर्थिक रूप से कमजोर लोगों की श्रेणी में रखा है, जबकि हरियाणा में यह सीमा छह लाख रुपये रहेगी। इसी तरह केंद्र सरकार ने सीधे भर्ती प्रथम श्रेणी के अधिकारी या 40 वर्ष की आयु से पहले पदोन्नत अधिकारियों को ही क्रीमीलेयर में रखा है।




लगातार 5वीं बार सबसे स्वच्छ शहर बना इंदौर, राष्ट्रपति ने किया सम्मानित

इंदौर शहर को 2017 से लगातार सबसे स्वच्छ शहर के रूप में स्वच्छता मिशन के तहत पुरस्कार दिया जा रहा है। इस बार इंदौर को सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में सर्वश्रेष्ठ शहर घोषित किया गया है।

इंदौर: मध्य प्रदेश की औद्योगिक राजधानी कहलाने वाले इंदौर शहर में रोजाना 1200 टन कचरा निकलता है लेकिन इसके बाद भी शहर में गंदगी दिखाई नहीं देती है। इसीलिए शहर ने लगातार पांचवीं बार देश में सबसे स्वच्छ शहर होने का गौरव हासिल किया है। इसे दिल्ली में राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने नगरीय विकास और आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने यह पुरस्कार ग्रहण किया है। 

बता दें कि इंदौर शहर को 2017 से लगातार सबसे स्वच्छ शहर के रूप में स्वच्छता मिशन के तहत पुरस्कार दिया जा रहा है। इस बार इंदौर को सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज  में सर्वश्रेष्ठ शहर घोषित किया गया है। इसमें स्वच्छता मिशन के कार्यक्रम के तहत न केवल स्वच्छता का काम किया जाता है बल्कि इसके माध्यम से लोगों को रोजगार भी उपलब्ध कराया जा रहा है। इंदौर को डस्ट फ्री शहर माना गया है। यहां नदी नालों के गंदे पानी को पुनः उपयोग करने लायक बनाने का काम भी किया जाता है। 

इंदौर शहर में 1200 टन कचरा निकलता है जिसमें से 700 टन गीला कचरा है।  कचरा प्रबंधन के लिए खाद और बायोमिथेनाइजेशन प्लांट का उपयोग कर उससे आमदनी भी की जाती है। 343 करोड़ रुपए से  शहर में 137 किलोमीटर नदी और नाले की सफाई होती है। शहर में 450 टन सूखा कचरा निकलता है जिसे प्रोसेस करने वाली कंपनियां नगर निगम इंदौर को दो करोड़ रुपए देती हैं। 


मध्य प्रदेश: CM शिवराज ने 8 मेट्रो रेलवे स्टेशनों के निर्माण का किया भूमि पूजन

इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मुझे विश्वास है कि भोपाल में मेट्रो प्रोजेक्ट सफल होगा। जब इनका निर्माण कार्य चलेगा तो 5-7 हज़ार नौजवानों को रोज़गार मिलेगा। हम कोशिश कर रहे हैं कि मेट्रो स्टेशन में कोयले से बनने वाली बिजली न लगे, सूरज से बनने वाली बिजली से मेट्रो स्टेशन चलें।

भोपाल: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल मेट्रो रेलवे परियोजना के अंतर्गत 426.67 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले 8 मेट्रो रेलवे स्टेशनों का भूमि-पूजन किया।

इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मुझे विश्वास है कि भोपाल में मेट्रो प्रोजेक्ट सफल होगा। जब इनका निर्माण कार्य चलेगा तो 5-7 हज़ार नौजवानों को रोज़गार मिलेगा। हम कोशिश कर रहे हैं कि मेट्रो स्टेशन में कोयले से बनने वाली बिजली न लगे, सूरज से बनने वाली बिजली से मेट्रो स्टेशन चलें।


मध्य प्रदेश में लगेगा 'COW TAX', महंगी होगी शराब

एक अधिकारी ने बताया कि प्रदेश भर में 1300 गौशालाएं हैं। इनमें रहने वाली गायों की संख्या 2.6 लाख है। इन सभी को खिलाने के लिए गौ संवर्धन बोर्ड हर साल 160 करोड़ रुपए चाहिए, लेकिन जो बजट मुहैया कराया गया है वह महज 60 करोड़ रुपए है।

भोपाल: मध्य प्रदेश में जल्द ही शराब के लिए लोगों को और ज्यादा कीमत चुकानी पड़ेगी। दरअसल, शिवराज सरकार 'काऊ टैक्स' लगाने जा रही है। अब शराब व अन्य चीजों पर जो सरचार्ज लगाएं जाएंगे वह गौशालाओं में रह रही गायों पर खर्च की जाएगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात के एक दिन बाद शुक्रवार को वित्त विभाग के एक अधिकारी ने यह बात कही। 

अधिकारी ने बताया कि इस संबंध में निर्णय गुरुवार को भोपाल में गौ संवर्धन बोर्ड की मीटिंग के दौरान लिया गया।  अधिकारी के मुताबिक 2020 में नए कृषि कानूनों के लागू होने के बाद मंडी बोर्ड से गौरक्षा के लिए मिलने वाले रेवेन्यू में कमी आई थी। हालांकि प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को कृषि कानूनों को वापस ले लिया। लेकिन राज्य सरकार के अधिकारियों को इस बारे में स्पष्टता नहीं थी कि मंडियों में कृषि उत्पादों की खरीद-बिक्री कब से शुरू होगी। 

अधिकारी ने बताया कि प्रदेश भर में 1300 गौशालाएं हैं। इनमें रहने वाली गायों की संख्या 2.6 लाख है। इन सभी को खिलाने के लिए गौ संवर्धन बोर्ड हर साल 160 करोड़ रुपए चाहिए, लेकिन जो बजट मुहैया कराया गया है वह महज 60 करोड़ रुपए है। 

अधिकारी के मुताबिक प्रतिदिन एक गाय पर 20 रुपए का खर्च आता जो कि मुहैया कराए गए 6 रुपए प्रतिदिन से काफी अधिक है। वहीं पशुपालन विभाग के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में फंड जुटाने को लेकर चर्चा की गई। 

पशुपालन विभाग के अपर मुख्य सचिव जेएन कंसोतिया ने कहाकि मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को कुछ उत्पादों और सेवाओं पर वेलफेयर सरचार्ज लगाने के निर्देश दिए हैं। इससे होनी वाली आय का इस्तेमाल गौ संरक्षण और गौपालन में किया जाएगा। उन्होंने बताया कि फाइनेंस और कॉमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट को इस बारे में प्रपोजल तैयार करने के लिए कहा गया है। 


बिहार में आईएएस और आईपीएस कर रहे हैं शराब की होम डिलीवरी: तेज प्रताप यादव

उन्होंने कहा कि बिहार में संपूर्ण शराबबंदी कहां है? राज्य के बॉर्डर पर प्रशासन शराब में लिप्त है। प्रशासन के लोग, सिपाही, हवलदार सभी जगह होम डिलीवरी कर रहे हैं। जिस तरह पिज्जा की होम डिलीवरी होती है उसी तरह से IPS, IAS घरों में शराब की होम डिलीवरी कर रहे हैं।

पटना: पिछले कुछ दिनों में शराब बंदी वाले बिहार में जहरीली शराब पीने से कई लोगों की जान जा चुकी है। प्रशासन भी तभी तक सक्रिय रहता है जबतक मामला मीडिया में गर्म रहता है। उसके बाद ढाक के तीन पात वाली कहानी सामने आ जाती है। 

शराब कांड को लेकर राजनीति भी हो रही है। ताजा मामले में तेज प्रताप यादव ने सूबे की नीतीश सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि बिहार में संपूर्ण शराबबंदी कहां है? राज्य के बॉर्डर पर प्रशासन शराब में लिप्त है। प्रशासन के लोग, सिपाही, हवलदार सभी जगह होम डिलीवरी कर रहे हैं। जिस तरह पिज्जा की होम डिलीवरी होती है उसी तरह से IPS, IAS घरों में शराब की होम डिलीवरी कर रहे हैं।


सब जगह हर डिपार्टमेंट में करप्शन होता है: CM गहलोत

राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने बड़ी की बेबाकी के साथ यह बात स्वीकार किया है कि करप्शन हर विभाग में होता है। सरकार बस यह कोशिश में लगी रहती है कि कैसे करप्शन को रोके। इतना ही नही सीएम गहलोत ने राज्य के एंटी करप्शन ब्यूरो को जमकर तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि इस समय राजस्थान की एंटी करप्शन ब्यूरो सबसे अच्छा काम कर रही है।

जयपुर: राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने बड़ी की बेबाकी के साथ यह बात स्वीकार किया है कि करप्शन हर विभाग में होता है। सरकार बस यह कोशिश में लगी रहती है कि कैसे करप्शन को रोके। इतना ही नही सीएम गहलोत ने राज्य के एंटी करप्शन ब्यूरो को जमकर तारीफ भी की। उन्होंने कहा कि इस समय राजस्थान की एंटी करप्शन ब्यूरो सबसे अच्छा काम कर रही है।


राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि सभी जगहों पर हर डिपार्टमेंट में करप्शन होता है। पर सरकार की मंशा क्या है कि इसे रोके कैसे...बड़े-बड़े अधिकारी हमारे पकड़े जाते हैं। कलेक्टर पकड़े गये हैं। एसपी पकड़े गये हैं। सस्पेंड तक हो गये हैं। मीडिया से बातचीत के दौरान सीएम अशोक गहलोत ने कहा, 'अभी परसों शिक्षकों का प्रोग्राम था तो मैंने करप्शन की बात शुरू कर दी। तो मैं यह कहना चाहूंगा कि अभी तो एसपी अच्छा काम कर रहे हैं यहां राजस्थान में...हिन्दुस्तान में मैं समझता हूं कि एंटी करप्शन डिपार्टमेंट सबसे अच्छा काम राजस्थान में कर रहा है। तो जो पकड़े जा रहे हैं...वो कोई शिक्षा विभाग तो है नहीं...वो सिर्फ टीचर की बात नहीं थी। वो बात थी कि सब जगह हर डिपार्टमेंट में करप्शन होता है। पर सरकार की मंशा क्या है कि इसे रोके कैसे...बड़े-बड़े अधिकारी हमारे पकड़े जाते हैं।

कलेक्टर पकड़े गये हैं। एसपी पकड़े गये हैं। सस्पेंड तक हो गये हैं...बर्खास्त तक हो रहे हैं। लेकिन रास्ता मिलेगा आपको। इसलिए मैंने सिर्फ शिक्षा विभाग की बात नहीं की...वो भी बेचारे तकलीफ में आ जाते हैं..कि पैसे दो कहीं पर जाकर..कोशिश करो अपनी जांच रिपोर्ट बन जाए। यह नौबत क्यों आती है...नीति बन जाए अगर मान लो...टीचर के ट्रांसफर की तो हर टीचर को लगेगा कि मेरा नंबर कब आएगा...एक साल बाद आएगा या दो साल बाद आएगा..तो ना वो पैसा देगा और ना करप्शन होगा। ये मेरा मकसद था कहने का। बाकी मैंने जो कहा उसका मतलब यह था कि कई लोग जो पकड़े जा रहे हैं वो तो दूसरे मंत्रालय के पकड़े जा रहे हैं। गृह मंत्रालय, जो कि मेरे पास है उसमें कई लोग पकड़ गये हैं।  तो इसलिए यह बात जो फैलाई गई है कि शिक्षा विभाग पर कमेंट कर दिया वो ठीक नहीं मेरा मकसद यह था।'

बता दें कि अभी हाल ही में मुख्यमंत्री जयपुर में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इस कार्यक्रम में कई शिक्षक भी मौजूद थे। शिक्षकों को संबोधित करते हुए जब सीएम अशोक गहलोत ने पूछा था कि ट्रांसफर के लिए पैसे देने पड़ते हैं? तब इस सवाल के जवाब में कई शिक्षकों ने एक साथ हां कह दिया था।


'भोजपुरिया दारोगा' ने ADJ को उसके ही कोर्ट में पीटा, पिस्टल भी तान दी, जवाब में वकीलों ने कर दी पिटाई

थानेदार ने जज के साथ मारपीट की और उन पर पिस्टल भी तान दी। इस दौरान थानेदार के साथ एक दरोगा भी मौजूद था। थानेदार की कारस्तानी से कोर्ट परिसर में खलबली मच गई।

मधुबनी: वर्दी का नशा कुछ पुलिसवालों पर इस कदर चढ़ा हुआ है कि अब जज की ही पिटाई कर दे रहे हैं वह भी भरी कोर्ट में। बात इतने पर ही नहीं खत्म हुई दारोगा ने जज पर पिस्तौल भी तान दी।

मधुबनी में कोर्ट के अंदर ही एडीजे पर एक थानेदार ने हमला बोल दिया। थानेदार ने जज के साथ मारपीट की और उन पर पिस्टल भी तान दी। इस दौरान थानेदार के साथ एक दरोगा भी मौजूद था। थानेदार की कारस्तानी से कोर्ट परिसर में खलबली मच गई। कोर्ट परिसर में मौजूद अधिवक्ताओं ने थानेदार के हाथ से पिस्टल छीनी और उसे पकड़कर जमकर धुना। आपाधापी और मारपीट में पुलिस के दोनों अधिकारी और जज के अलावा एक कर्मचारी और कुछ अधिवक्ता घायल हुए हैं।

मुताबिक एडीजे प्रथम अविनाश कुमार ने घोघरडीहा थानाध्यक्ष गोपाल कृष्ण को उसी थाना क्षेत्र की एक महिला आशा देवी द्वारा दिए गए एक आवेदन के बारे में पूछताछ के लिए बुलाया था। बुधवार को ही पुलिस अधिकारी को बुलाया गया था जबकि वह गुरुवार को एएसआई अभिमन्यु कुमार शर्मा के साथ पहुंचे। पूछताछ के दौरान ही कहासुनी हो गयी। इस पर थानेदार ने जज के साथ हाथापाई शुरू कर दी। थानेदार ने पिस्टल भी तान दी। 
एडीजे के साथ हाथापाई से अचानक अफरातफरी मच गई। एडीजे के चैंबर से हल्ला मचने पर कोर्ट परिसर में मौजूद अधिवक्ता और कर्मचारी दौड़कर चैंबर में पहुंचे और थानाध्यक्ष के हाथ से उसका पिस्टल छीनकर स्थिति को काबू में किया। थानेदार को काबू में करने के साथ ही भीड़ ने दोनों पुलिस अधिकारियों की पिटाई की। घटना की सूचना मिलते ही सारे अधिवक्ता न्यायालय कक्ष के समक्ष जमा हो गए और दोनों पुलिस अधिकारियों को अपने कब्जे में लेकर चैंबर में ही धकेल कर बंद कर दिया। अधिवक्ताओं का कहना है यह दोनों पुलिस अधिकारी को कोर्ट से ही रिमांड कर भेजा जाए और प्राथमिकी दर्ज की जाए। 

मामले की जानकारी मिलते ही एसडीएम और डीएसपी मौके पर पहुंचे। मामले में दोनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज किया जा चुका है और आगे की कार्यवाही की जा रही है।

पटना हाईकोर्ट ने लिया मामले का संज्ञान

पटना उच्च न्यायालय ने आज मधुबनी ज़िले में दो पुलिस अधिकारियों द्वारा झंझारपुर के अतिरिक्त ज़िला एवं सत्र न्यायाधीश अविनाश कुमार पर हमले का संज्ञान लिया। बिहार के DGP को 29 नवंबर को मामले की सुनवाई के दौरान मौज़ूद रहने के निर्देश दिए हैं।


मध्य प्रदेश सरकार ने कोरोना की वजह से लगी सारी पाबंदियां हटाई, सीएम शिवराज की अपील-'लोग करते रहे कोविड प्रोटोकॉल का पालन'

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पाबंदियों को हटाने का एलान करते हुए कहा कि कोरोना की स्थिति पर लगातार नज़र बनाए हुए हैं। कोविड के दौरान जो प्रतिबंध लगाए गए थे, वे सभी प्रतिबंध आज से हटाने का फै़सला किया गया है। सभी धार्मिक, खेल-कूद, राजनीतिक, सांस्कृतिक और अन्य आयोजन पूरी क्षमता के साथ अब हो सकेंगे।

भोपाल: आज से मध्य प्रदेश सरकार ने कोरोना की वजह से जो पाबंदियां लगाई तो उन सभी पाबंदियों को हटा दिया है।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पाबंदियों को हटाने का एलान करते हुए कहा कि कोरोना की स्थिति पर लगातार नज़र बनाए हुए हैं। कोविड के दौरान जो प्रतिबंध लगाए गए थे, वे सभी प्रतिबंध आज से हटाने का फै़सला किया गया है। सभी धार्मिक, खेल-कूद, राजनीतिक, सांस्कृतिक और अन्य आयोजन पूरी क्षमता के साथ अब हो सकेंगे।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने आगे कहा कि विवाह में सीमित संख्या का प्रावधान और नाइट कर्फ्यू आज रात से समाप्त हो रहा है। इसके साथ ही क्लब, स्विमिंग पूल, स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर पूर्ण क्षमता के साथ संचालित हो सकेंगे लेकिन इस दौरान कोविड नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा।

सीएम ने आगे कहा कि हॉस्टल में 18 साल से ऊपर के छात्रों को कोविड की दोनों डोज़ लगवाना अनिवार्य है। सिनेमा हॉल के कर्मचारियों को दोनों डोज़ और दर्शकों को कोविड की एक डोज़ लगवाना अनिवार्य होगा। सभी शासकीय सेवकों को कोरोना की दोनों डोज़ लगवाना अनिवार्य है।


वसूली कांड: मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह अदालत से भगोड़ा घोषित

सरकारी वकील शेखर जगताप ने बताया कि अदालत ने पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह को भगोड़ा अपराधी घोषित करने के मुंबई पुलिस के आवेदन को स्वीकार कर लिया है। मामलों की जांच कर रही मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने इसकी मांग की थी।

मुम्बई: मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को भगोड़ा घोषित करने पर मुंबई की एक अदालत ने मुहर लगा दी है। सरकारी वकील शेखर जगताप ने बताया कि अदालत ने पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह को भगोड़ा अपराधी घोषित करने के मुंबई पुलिस के आवेदन को स्वीकार कर लिया है। मामलों की जांच कर रही मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने इसकी मांग की थी। 

उल्‍लेखनीय है कि मुंबई की एक मजिस्ट्रेट अदालत भी मरीन ड्राइव थाने में दर्ज रंगदारी के एक मामले में मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी कर चुकी है। 

अन्‍य अदालतों ने भी मुंबई के गोरेगांव और ठाणे जिले में दर्ज रंगदारी के दो अन्य मामलों में गैर-जमानती वारंट जारी किए हैं। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक, परमबीर सिंह के खिलाफ अब तक तीन गैर-जमानती वारंट जारी किए जा चुके हैं।

बता दें कि रियल एस्टेट डेवलपर श्यामसुन्दर अग्रवाल ने इस साल 22 जुलाई को मरीन ड्राइव थाने में एक शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके आधार पर सिंह और सात अन्य के खिलाफ रंगदारी का मामला फाइल किया गया था। 

मामले में परमबीर सिंह और सात अन्य के नाम हैं। आरोपियों में पांच पुलिस अधिकारी हैं। एक गैर-जमानती वारंट अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट आरएम नेरलिकर की ओर से जारी किया गया था।

सरकारी वकील का कहना है कि यह कदम इसलिए उठाया गया है क्योंकि गैर जमानती वारंट जारी होने के बावजूद परमबीर सिंह का कोई पता नहीं चल पाया है कि वह कहां हैं। 


पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी पर भड़के किसान नेता, लगाया बेइज्जती करने का आरोप, जानिए-क्या है पूरी बात

किसान नेताओं ने आरोप लगाया है कि सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने उन्हें मुलाकात के लिए बुलाया था और जब वह उनसे मिलने पहुंचे तो उनके साथ सीएम के सुरक्षाकर्मियों द्वारा धक्कामुक्की की गई।

चंडीगढ़: किसानों के प्रति राजनीतिक मोह दिखाना पंजाब के सीएम चरणजीत सिंह चन्नी को भारी पड़ गया है। दरअसल, किसान नेताओं ने आरोप लगाया है कि सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने उन्हें मुलाकात के लिए बुलाया था और जब वह उनसे मिलने पहुंचे तो उनके साथ सीएम के सुरक्षाकर्मियों द्वारा धक्कामुक्की की गई।

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने बुधवार को किसान नेताओं को बातचीत के लिए पंजाब भवन में बुलाया था। लेकिन यहां किसान नेता उल्टे सरकार पर ही भड़क गए। दरअसल किसान नेता चंडीगढ़ स्थित पंजाब भवन पहुंचे तो सीएम के साथ सुरक्षाकर्मियों से धक्कामुक्की की घटना हो गई। इस पर किसान नेता भड़क गए और चन्नी सरकार पर बुलाकर अपमान किए जाने का आरोप लगाया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक पंजाब भवन पहुंचे किसानों से सुरक्षा में लगे जवानों की धक्कामुक्की हो गई और इस पर विवाद बढ़ गया। अब किसान नेताओं ने राज्य सरकार पर बातचीत के लिए बुलाकर अपमानित करने का आरोप लगाया है।


मिशन यूपी: समाजवादी का भाजपा ने गिराया आधा दर्जन विकेट, 6 MLC आज थामेंगे 'कमल' का दामन

सपा नेता सीपी चंद, रवि शंकर पप्पू, राम निरंजन, नरेंद्र भाटी और अक्षय प्रताप आज बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। ये सभी फिलहाल विधान परिषद सदस्य यानी एमएलसी हैं और इनका कार्यकाल अगले साल मार्च में खत्म हो रहा है।

लखनऊ: विधानसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी को तगड़ा झटका लगा है। दरअसल, समाजवादी पार्टी के 6 एमएलसी आज भाजपा का दामन थामेंगे।

मिली जानकारी के मुताबिक, सपा नेता सीपी चंद, रवि शंकर पप्पू, राम निरंजन, नरेंद्र भाटी और अक्षय प्रताप आज बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। ये सभी फिलहाल विधान परिषद सदस्य यानी एमएलसी हैं और इनका कार्यकाल अगले साल मार्च में खत्म हो रहा है।

बीते रविवार ही बीजेपी आलाकमान ने सपा के बागियों को अपनी पार्टी में शामिल करने को लेकर हरी झंडी दी थी। इसके अलावा बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस के कुछ नेताओं के नाम पर भी मुहर लग गई है और अगले कुछ दिनों में एसपी, बीएसपी के मौजूदा विधायक भी बीजेपी में शामिल हो सकते हैं।


युवाओं के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने खोला खजाना, जानिए क्या है स्कीम

भोपाल: मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार ने युवाओं के लिए सरकारी खजाना खोला है। मध्य प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया कि आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना को प्रारंभ करने की सहमति मिली है। ये योजना मध्य प्रदेश के युवाओं को रोज़गार दिलाने के लिए मील का पत्थर साबित होगी।

उन्होंने बताया कि इस योजना में 12वीं पास 18 से 40 वर्ष के युवा पात्र होंगे और वो युवा जो निर्माण यूनिट लगाएंगे उन्हें 1 लाख से 50 लाख रुपए तक का लोन उपलब्ध कराया जाएगा। जिसकी गांरटी मध्य प्रदेश सरकार लेगी और इसमें 3% ब्याज की सब्सिडी भी दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि जो युवा सेवा की गतिविधियों में अपना रोज़गार शुरू करना चाहते हैं उन्हें मध्य प्रदेश सरकार 1 लाख से 25 लाख रुपए तक का लोन उपलब्ध कराने की गांरटी लेगी और 3% ब्याज की सब्सिडी देगी।


पीएम मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का किया उद्घाटन, विपक्षियों पर बोला हमला, मिराज 2000 की लैंडिंग ने जीता लोगों का दिल

पीएम मोदी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में हमारे जिन किसान भाई-बहनों की भूमि इसमें लगी है, जिन श्रमिकों का पसीना इसमें लगा है, जिन इंजीनियरों का कौशल इसमें लगा है, उनका भी मैं बहुत-बहुत अभिनंदन करता हूं।

नई दिल्ली: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुल्तानपुर में 341 किमी लंबे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया। पुर्वांचल एक्सप्रेस वे के उद्घाटन पर मिराज 2000 की लैंडिंग ने लोगों का दिल जीत लिया। महज 43 सेकेंड में विमान की लैंडिंग हुई। इस मौके पर पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि आज इस पावन धरती को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की सौगात मिली है जिसकी आप सभी बहुत दिन से इंतजार कर रहे थे। आप सभी को बहुत-बहुत बधाई।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि पूरी दुनिया में जिस किसी को भी उत्तर प्रदेश के सामर्थ्य पर, उत्तर प्रदेश के लोगों के सामर्थ्य पर जरा भी संदेह है वो आज सुल्तानपुर में आकर उत्तर प्रदेश का सामर्थ्य देख सकता है। 3-4 साल पहले जहां सिर्फ ज़मीन थी अब वहां से होकर इतना आधुनिक एक्सप्रेस-वे गुजर रहा है। उन्होंने आगे कहा कि ये एक्सप्रेस-वे उत्तर प्रदेश को तेज़ गति से बेहतर भविष्य की तरफ ले जाएगा। ये एक्सप्रेस-वे यूपी की प्रगति का एक्सप्रेस-वे है। ये एक्सप्रेस-वे नए यूपी के निर्माण का एक्सप्रेस-वे है। ये एक्सप्रेस-वे यूपी की मज़बूत होती अर्थव्यवस्था का एक्सप्रेस-वे है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे में हमारे जिन किसान भाई-बहनों की भूमि इसमें लगी है, जिन श्रमिकों का पसीना इसमें लगा है, जिन इंजीनियरों का कौशल इसमें लगा है, उनका भी मैं बहुत-बहुत अभिनंदन करता हूं।

अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए पीएम मोदी ने कहा कि गरीबों को पक्के घर मिलें, गरीबों के घर में शौचालय हों, महिलाओं को खुले में शौच के लिए बाहर ना जाना पड़े, सबके घर में बिजली हो, ऐसे कितने ही काम थे, जो यहां किए जाने जरूरी थे। लेकिन मुझे बहुत पीड़ा है, कि तब यूपी में जो सरकार थी(सपा सरकार), उसने मेरा साथ नहीं दिया।

विपक्षियों पर हमला करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मुझे मालूम था कि जिस तरह तब की सरकार ने यूपी के लोगों के साथ नाइंसाफी की जा रही है, विकास में भेदभाव किया जा रहा है, जिस तरह सिर्फ अपने परिवार का हित साधा जा रहा है, यूपी के लोग ऐसा करने वाली सरकार को हमेशा-हमेशा के लिए यूपी के विकास के रास्ते से हटा देंगे। पिछले मुख्यमंत्रियों के लिए विकास वहीं तक सीमित था जहां उनका घर था। लेकिन आज जितनी पश्चिम की पूछ है, उतनी ही पूर्वांचल के लिए भी प्राथमिकता है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे आज यूपी की इस खाई को पाट रहा है, यूपी को आपस में जोड़ रहा है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि UP में हमने लंबा दौर, ऐसी सरकारों का देखा जिन्होंने कनेक्टिविटी की चिंता किए बिना ही औद्योगीकरण के सपने दिखाए। परिणाम ये हुआ कि ज़रूरी सुविधाओं के अभाव में यहां लगे अनेक कारखानों में ताले लग गए। ये भी दुर्भाग्य रहा कि दिल्ली और लखनऊ, दोनों ही जगह परिवारवादियों का ही दबदबा रहा।


सीएम योगी ने कही ये बातें 

इस मौके पर अपने संबोधन में सीएम योगी ने कहा कि आज से 3 साल पहले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के शिलान्यास का कार्यक्रम संपन्न हुआ था। पिछले 19 महीने से पूरी दुनिया कोविड महामारी का सामना कर रही है। इसके बावजूद प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व का ही परिणाम है कि आज पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन संपन्न होने जा रहा है।

सीएम योगी ने आगे कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे सिर्फ आवागमन का माध्यम नहीं बल्कि पूर्वी उ.प्र. जो आज़ादी के बाद से भौतिक विकास के मापदंडों को पूरा करने में विफल रहा था। उस पूर्वी उ.प्र. को विकास की नई जीवन रेखा के रूप में स्थापित किए जाने वाले प्रयास का हिस्सा होगा।


पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करने हरक्यूलिस से PM मोदी पहुंचे सुल्तानपुर, वायुसेना ने भी दिखाया दम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर भारतीय वायु सेना के विमान सी-130जे सुपर हरक्यूलिस ने सुल्तानपुर के करवल खीरी में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर लैंड हुए।

सुल्तानपुर: पीएम नरेंद्र मोदी आज उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े 341 किलोमीटर के पूर्वांचल एक्‍सप्रेस-वे का लोकार्पण करने पहुंच चुके हैं। उद्घाटन समारोह का आगाज रंगारंग कार्यक्रमों से हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर भारतीय वायु सेना के विमान सी-130जे सुपर हरक्यूलिस ने सुल्तानपुर के करवल खीरी में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर लैंड हुए। यह एक्‍सप्रेस-वे राज्‍य के पूर्वी और पश्चिमी इलाकों को जोड़ेगा। इससे लखनऊ से गाजीपुर तक की यात्रा सिर्फ साढ़े चार घंटे में पूरी की जा सकेगी।

लखनऊ के चांद सराय से शुरू होकर गाजीपुर तक पहंचने वाले इस एक्‍सप्रेस-वे को बनाने पर 22 हजार 497 करोड़ रुपए का खर्च आया है। यह एक्‍सप्रेस- वे लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्‍या, सुल्‍तानपुर, अम्‍बेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर प्रदेश के कुल नौ जिलों से गुजरेगा।

अभी एक्‍सप्रेस-वे छह लेन का है जिसे बाद में बढ़ाकर आठ लेन तक किया जा सकेगा। फिलहाल इस एक्‍सप्रेस-वे को टोल टैक्स से मुक्‍त रखा गया है। सीएम योगी और यूपी सरकार की बड़ी उपलब्धियों में से एक बताए जाने वाले पूर्वांचल एक्‍सप्रेस-वे का उद्घाटन करने पीएम मोदी 1:20 बजे हरक्यूलिस विमान से पहुंच चुके हैं। वह 1:30 बजे एक्‍सप्रेस वे का उद्घाटन करेंगे। 



यूपी की योगी सरकार ने गायों के लिए शुरू की एम्बुलेंस सेवा, मात्र 15 मिनट में पहुंचेगी मदद

अक्सर ऐसी खबरें सामने आती रही है कि चारे के अभाव में गौशालाओं में गोवंश दम तोड़ते हैं लेकिन चुनावी समय में एक बार फिर से योगी सरकार को गऊ माता की याद आ गई है। अब उत्तर प्रदेश में गायों के लिए एम्बुलेंस सेवा शुरू की गई है।

लखनऊ: अगले साल उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं ऐसे में सूबे की सत्ताधारी पार्टी भाजपा जी जान से लोगों को लुभाने में जुटी है। अक्सर ऐसी खबरें सामने आती रही है कि चारे के अभाव में गौशालाओं में गोवंश दम तोड़ते हैं लेकिन चुनावी समय में एक बार फिर से योगी सरकार को गऊ माता की याद आ गई है। अब उत्तर प्रदेश में गायों के लिए एम्बुलेंस सेवा शुरू की गई है।


उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी उ.प्र. राजकोष से 7 लाख गायों के लिए 900 रुपये प्रति माह भरण-पोषण के लिए दिया जा रहा है। लगभग 200 वृहद गौ संरक्षण केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए। 5500 अस्थाई गऊशालाएं बनाई गई हैं। 542 रजिस्टर्ड गौशालाओं को आर्थिक सहायता दी जाती है।

चौधरी ने आगे बताया कि केंद्र सरकार ने गायों के लिए 520 एंबुलेंस शुरू करने के लिए उ.प्र. सरकार को धन आवंटित किया है। एक कॉल सेंटर बनाया जाएगा। गाय की बीमारी या दुर्घटना की सूचना मिलने के 15 मिनट के अंदर हमारी एंबुलेंस पहुंच जाएगी।


बिहार के जमुई में बड़ा सड़क हादसा, कार-ट्रक के टक्कर में 6 लोगों की मौत

बिहार के जमुई में भीषण सड़क हादसा हुआ है। दाह संस्कार कर लौट रहे लोगों की कार ट्रक से भिड़ जाने के कारण 6 लोगों की मौत हुई है कुछ लोग घायल भी हुए हैं।

जमुई: बिहार के जमुई में भीषण सड़क हादसा हुआ है। दाह संस्कार कर लौट रहे लोगों की कार ट्रक से भिड़ जाने के कारण 6 लोगों की मौत हुई है कुछ लोग घायल भी हुए हैं।


मिली जानकारी के अनुसार यह हादसा सिंकदरा-शेखपुर मुख्‍य मार्ग पर स्थित पिपरा गांव के पास हुआ। मरने वालों में 5 लोग जमुई के खैरा प्रखंड के नौडीहा के बताए जा रहे हैं जबकि एक चौहान जी क्षेत्र के रहने वाले थे। बताया जा रहा है कि सभी लोग दाह संस्कार के लिए जमुई खैरा से पटना गए थे। वापसी के दौरान यह हादसा हुआ।


ट्रक और सुमो विक्‍टा के बीच आमने-सामने की टक्‍कर हुई। टक्‍कर इतनी जबरदस्‍त थी कि छह लोगों की घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल चार लोगों को नजदीकी अस्‍पताल पहुंचाया गया। 

हादसे की सूचना पाकर घटनास्‍थल पर बड़ी संख्‍या में लोग जुट गए। पुलिस ने घायलों को अस्‍पताल पहुंचाने का इंतजाम किया और अब आगे की कार्यवाही में जुटी है। मृतकों और घायलों के परिवारों को सूचना दे दी गई है। 


आज पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का पीएम मोदी करेंगे लोकार्पण, मिराज-सुखोई और जगुआर के एयर शो का भी आयोजन

आज यानी मंगलवार को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के रूप में जो नया प्रगति पथ योगी सरकार ने तैयार किया है, उसका लोकार्पण करने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सुलतानपुर पहुंच रहे हैं।

लखनऊ: आज यानी मंगलवार को  पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के रूप में जो नया प्रगति पथ योगी सरकार ने तैयार किया है, उसका लोकार्पण करने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सुलतानपुर पहुंच रहे हैं।

प्रदेश को सरकार का यह उपहार मिलते ही इस अंचल के छोटे-छोटे जिलों की दिल्ली से दूरी घट जाएगी। उत्‍तर प्रदेश में अवस्थापना सुविधाओं पर जोर देते हुए योगी सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, गोरखपुर ¨लक एक्सप्रेसवे और गंगा एक्सप्रेसवे बनाने की घोषणा की। 

जुलाई, 2018 में प्रधानमंत्री मोदी ने आजमगढ़ से इस महत्वाकांक्षी परियोजना की आधारशिला रखी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वायुसेना के सी-130जे सुपर हरक्युलिस ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट से एक्सप्रेसवे पर बनाई गई हवाई पट्टी पर ही उतरेंगे।

लखनऊ से गाजीपुर तक 340.824 किलोमीटर का यह एक्सप्रेसवे बनकर तैयार है। सोमवार को लोकभवन में पत्रकारों से बातचीत में उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि एक्सप्रेसवे का लोकार्पण मंगलवार को पीएम मोदी सुलतानपुर के कूरेभार स्थित एक्सप्रेसवे की हवाई पट्टी से करेंगे। साथ ही जनसभा को भी संबोधित करेंगे। उनका कहना था कि यह प्रोजेक्ट बहुत चुनौतीपूर्ण था। तमाम निचले इलाकों में पानी भर जाता है। इधर, कोरोना संक्रमण की वजह से भी काम प्रभावित हुआ, लेकिन काम को रोका नहीं गया। पूरी सावधानी से साथ निर्माण कार्य जारी रखा। उसी का नतीजा है कि तय समय सीमा में एक्सप्रेसवे बनकर तैयार है।

अवस्थी ने बताया कि एक्सप्रेसवे के दोनों किनारों पर औद्योगिक गलियारे बनाए जाएंगे। यहां विभिन्न प्रकार के उद्योग स्थापित होंगे। लाजिस्टिक सुविधा बेहतर होने से स्थानीय कारोबारियों, छोटे व्यापारियों आदि को भी लाभ होगा। वहीं, पूर्वांचल के छोटे-छोटे जिलों से अब लखनऊ और दिल्ली की दूरी घट गई है। दस घंटे का सफर महज साढ़े तीन से चार घंटे में तय किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि यह एक्सप्रेसवे बिहार की सीमा तक है, इसलिए इसका लाभ बिहार के सीमावर्ती जिलों को भी सीधे मिल सकेगा। दावा किया कि यह एक्सप्रेसवे पूर्वांचल के विकास के लिए रीढ़ की हड्डी साबित होगा।

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान एयर शो भी होगा। अवनीश अवस्थी ने बताया कि जनसभा के बाद लगभग 45 मिनट का एयर शो होगा, इसमें वायुसेना के जांबाज जवान लड़ाकू विमानों के जरिये युद्ध कौशल दिखाएंगे। उन्होंने बताया कि इसके लिए वायुसेना ने काफी तैयारी की है। यही नहीं, हवाई पट्टी बनाने में भी पूरा सहयोग किया है। एयर स्टि्रप ऐसी बनी है, जिस पर किसी भी प्रकार का हवाई जहाज उतारा जा सकता है।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर जो हवाई पट्टी बनाई गई है, उसके बारे में दावा किया गया है कि उस पर किसी भी प्रकार का वाहन उतारा जा सकता है। लोकार्पण के दौरान ही इसका प्रमाण भी सबके सामने होगा। सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वायुसेना के सी-130जे सुपर हरक्युलिस ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट से आ रहे हैं। वह सुलतानपुर के कूरेभार में एक्सप्रेसवे पर बनाई गई हवाई पट्टी पर ही उतरेंगे। यहीं पर वायुसेना द्वारा मिराज-2000 सहित अन्य लड़ाकू विमानों की लैंडि‍ंग कराई जाएगी।


लखीमपुर खीरी हिंसाः केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा की जमानत अर्जी खारिज

लखीमपुर हिंसा में गिरफ्तार केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटा आशीष मिश्रा को एक बार फिर कोर्ट से झटका लगा है। जिला जज ने उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी है।

लखनऊ/लखीमपुर खीरी: लखीमपुर हिंसा में गिरफ्तार केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटा आशीष मिश्रा को एक बार फिर कोर्ट से झटका लगा है। जिला जज ने उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी है। 


आशीष मिश्रा के साथ ही मामले के सह आरोपी आशीष पांडे, लवकुश राना की जमानत पर भी सोमवार को सुनवाई हुई। दिन में दो घंटे तक बहस के बाद अदालत ने फैसला सुरक्षित रख लिया था। शाम में जिला जज मुकेश मिश्रा ने केस डायरी, अभियोजन की ओर से पेश किए गए साक्ष्यों को देखने के बाद जमानत याचिका खारिज करने का फैसला सुनाया।

तीन अक्‍टूबर को लखीमपुर खीरी में हुई हिंसक झड़प में चार किसानों समेत कुल आठ लोगों की मौत हो गई थी। घटना के बाद इस वारदात के कई वीडियो सामने आए थे। इनमें एक थार जीप कुछ किसानों को रौंदते हुए बढ़ती दिख रही है। यह थार जीप मंत्री पुत्र आशीष मिश्रा की थी। किसानों की ओर से आशीष मिश्रा को इस पूरी वारदात का मुख्‍य आरोपी बनाया गया है। किसानों के आक्रोश में भारी जनदबाव के बीच पुलिस ने आशीष मिश्रा, सह आरोपी आशीष पांडेय और लवकुश राना समेत कुछ अन्‍य लोगों को गिरफ्तार किया था। अशीष मिश्रा और अन्‍य आरोपियों के असलहों की फोसेंसिक जांच भी कराई गई है। 

पुलिस ने इस मामले की केस डायरी और असलहा रिपोर्ट अदालत में पेश की। विवेचक की ओर से कोर्ट में पूरे मामले की रिपोर्ट और अन्‍य दस्‍तावेजों के साथ बैलिस्टिक रिपोर्ट भी पेश की गई। बचाव पक्ष की ओर से सलिल श्रीवास्‍तव, अवधेश दुबे, अवधेश सिंह और रामआशीष मिश्रा ने बहस की। 

उन्‍होंने अदालत के सामने एक फोटो एलबम रखी। उन्‍होंने अदालत से फोटो देखने की अपील की। अभियोजन पक्ष की से जिला शासकीय अधिवक्‍त अरविंद त्रिपाठी ने अपना पक्ष रखा। इस पूरे मामले में कोर्ट में करीब दो घंटे तक बहस चली।


PM मोदी ने 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का किया उद्घाटन, कही ये बड़ी बात

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल में पुनर्विकसित 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घाटन किया। इस मौके पर मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और तमाम दिग्गज मौजूद रहे।

नई दिल्ली/भोपाल: आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल में पुनर्विकसित 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घाटन किया। इस मौके पर मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान और तमाम दिग्गज मौजूद रहे।

Image

इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह ने पीएम मोदी को धन्यवाद देते हुए कहा कि वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन की सौगात जो अपने तरह का अनोखा स्टेशन है, आप ने आज यह स्टेशन मध्य प्रदेश को दिया है और दूसरा उसका नाम भोपाल की रानी कमलापति के नाम पर रखा। इसके लिए आपका दिल से अभिनंदन है।

Image

भोपाल में 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घान करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भोपाल में 'रानी कमलापति रेलवे स्टेशन' का उद्घान करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय रेल का भविष्य कितना आधुनिक है, कितना उज्जवल है इसका प्रतिबिंब भोपाल के इस भव्य रेलवे स्टेशन में जो भी आएगा उसे दिखाई देगा।

पीएम नरेंद्र मोदी ने आगे कहा कि भोपाल के इस रेलवे स्टेशन का सिर्फ़ कायाकल्प ही नहीं हुआ है बल्कि रानी कमलापति जी का नाम इससे जुड़ने से इसका महत्व और भी बढ़ गया है। भारत कैसे बदल रहा है, सपने कैसे सच हो सकते हैं, यह देखना हो तो आज इसका एक उत्तम उदाहरण भारतीय रेलवे भी बन रहा है। 6-7 साल पहले तक, जिसका भी पाला भारतीय रेल से पड़ता था, तो वह भारतीय रेल को ही कोसते हुए नज़र आते थे।


उन्होंने आगे कहा कि एक ज़माना था, जब रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं को भी ड्राइंग बोर्ड से ज़मीन पर उतरने में ही सालों-साल लग जाते थे। लेकिन आज भारतीय रेलवे में भी जितनी अधीरता नए प्रोजेक्ट्स की प्लानिंग की है, उतना ही गंभीरता उनको समय पर पूरा करने की भी है।

इस मौके पर रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव ने कहा कि देश के इंजीनियरों ने अपनी क्षमता से आधुनिक इंजन, कोच, मेट्रो, ट्रेनों के सुरक्षा कवच विकसित किए। भारतीय डिजाइन और देश में निर्मित टेक्नोलॉजी से भारत के आम आदमी को विश्व स्तरीय सुविधाएं मिल सकेंगी।


रानी कमलापति रेलवे स्टेशन को वर्ल्ड क्लास बनाने में जुटी मध्य प्रदेश सरकार

पीएम मोदी जनजातीय गौरव दिवस में शामिल होने के बाद इसका लोकापर्ण करेंगे। इस रेलवे स्टेशन की भव्यता इसकी तस्वीरों से साफ झलकती है।

भोपाल: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब से कुछ ही देर बाद हबीबगंज रेलवे स्टेशन के वर्ल्ड क्लास पुनर्विकास कार्य पूर्ण होने पर उसके नए नाम रानी कमलापति रेलवे स्टेशन के साथ लांचिंग करने जा रहा है। पीएम मोदी जनजातीय गौरव दिवस में शामिल होने के बाद इसका लोकापर्ण करेंगे। इस रेलवे स्टेशन की भव्यता इसकी तस्वीरों से साफ झलकती है।

प्रधानमंत्री मोदी ने इस नए और भव्य रेलवे स्टेशन की कई तस्वीरें पोस्ट की हैं। इस स्टेशन पर यात्रियों की सुगमता को ध्यान में रखते हुए कई एस्केलेटर लगाए गए हैं। साथ ही जगह-जगह पर एलईडी भी लगाए गए हैं, जिसपर ट्रेनों की आवाजही की जानकारियां उपलब्ध होंगी।

गोंड साम्राज्य की बहादुर और निडर रानी कमलापति के नाम पर पुनर्विकसित रानी कमलापति रेलवे स्टेशन मध्य प्रदेश का पहला विश्व स्तरीय रेलवे स्टेशन है। सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) मोड में पुनर्विकास, स्टेशन को आधुनिक विश्व स्तरीय सुविधाओं के साथ एक हरे रंग की इमारत के रूप में डिजाइन किया गया है जो दिव्यांगजनों के लिए गतिशीलता में आसानी को भी ध्यान में रखता है। स्टेशन को एकीकृत मल्टी-मोडल परिवहन के हब के रूप में भी विकसित किया गया है।

आयोजन के दौरान, प्रधानमंत्री मध्य प्रदेश में रेलवे की कई पहलों को राष्ट्र को समर्पित करेंगे जिनमें गेज परिवर्तित और विद्युतीकृत उज्जैन-फतेहाबाद चंद्रावतीगंज ब्रॉड गेज खंड, भोपाल-बरखेड़ा खंड में तीसरी लाइन, गेज परिवर्तित और विद्युतीकृत मथेला-निमाड़ खीरी ब्रॉड शामिल हैं। गेज खंड और विद्युतीकृत गुना-ग्वालियर खंड। प्रधानमंत्री उज्जैन-इंदौर और इंदौर-उज्जैन के बीच दो नई मेमू ट्रेनों को भी हरी झंडी दिखाएंगे।


मिशन यूपी: ब्राम्हणों को इस तरह से यूपी में साध रही है बीजेपी, जानिए-क्या है पूरी रणनीति

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को लखनऊ में एक ब्राह्मण संस्था के कार्यक्रम में शामिल हुए और चाणक्य का जिक्र कर बड़ा संदेश दिया। ब्राह्मणों को चाणक्य का वंशज बताकर सीएम योगी ने एक तरफ बिरादरी को संदेश दिया तो वहीं चुनावी रणनीति का भी संकेत दिया है।

लखनऊ: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ रविवार को लखनऊ में एक ब्राह्मण संस्था के कार्यक्रम में शामिल हुए और चाणक्य का जिक्र कर बड़ा संदेश दिया। ब्राह्मणों को चाणक्य का वंशज बताकर सीएम योगी ने एक तरफ बिरादरी को संदेश दिया तो वहीं चुनावी रणनीति का भी संकेत दिया है।

उन्होंने कहा, 'भारत तब महान बना था, जब चाणक्य इस देश को नई दिशा दे रहे थे। आप सब आचार्य चाणक्य के वंशज हैं।' यही नहीं उन्होंने सनातन धर्म के लिए ब्राह्मणों के योगदान का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, 'यदि सनातन धर्म जीवित रहा है और पूरी दुनिया के अंदर अपने भव्य ध्वज को गाड़ कर चल रहा है तो इसलिए कि वह 'ब्रह्म तत्व' हमारे पास मौजूद है। जो सनातन धर्म की आत्मा में सदैव विराजमान रहकर, स्वयं कष्ट सहकर भी इस धर्म पर आंच नहीं आने देता।'


सनातन धर्म और देश निर्माण में ब्राह्मणों की अहम भूमिका बताते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने एक तरह से इस बात का भी संदेश दे दिया कि यह समुदाय चुनावी लिहाज से भी अहम है। आमतौर पर ब्राह्मणों को भाजपा का समर्थक वर्ग माना जाता रहा है, लेकिन बीते कुछ सालों में विपक्षी दलों ने यूपी में इस बिरादरी को साधने की जमकर कोशिशें की हैं। मायावती के करीबी नेता सतीश चंद्र मिश्र इस रणनीति पर काम करते रहे हैं। इसके अलावा समाजवादी पार्टी ने भी परशुराम की प्रतिमा लगाने का ऐलान किया है। यही नहीं हर जिले में ब्राह्मण सम्मेलन का आयोजन भी समाजवादी पार्टी कर रही है।

बीते कुछ सालों में योगी सरकार में ब्राह्मण के उत्पीड़न की बातें विपक्षी दल करते रहे हैं। ऐसे में यह आशंका जताई जा रही थी कि भाजपा का परंपरागत वोट बैंक रहा यह समुदाय उससे छिटक सकता है। ऐसे में लखनऊ में ब्राह्मण संस्था के कार्यक्रम में न सिर्फ सीएम योगी का शिरकत करना बल्कि राजनाथ सिंह का भी शामिल होना बड़े संकेत देता है। इस आयोजन में योगी सरकार के मंत्री और ब्राह्मण चेहरे ब्रजेश पाठक की अहम भूमिका थी। यही नहीं रीता बहुगुणा जोशी और राज्यसभा सांसद सुधांशु त्रिवेदी को भी इसमें आमंत्रित किया गया था। इसके अलावा डिप्टी सीएम दिनेश चंद्र शर्मा भी इस आयोजन में मौजूद थे। इस तरह दिग्गज नेताओं के जुटान और ब्राह्मण बिरादरी की तारीफ से सीएम योगी आदित्यनाथ ने यह संदेश देने का प्रयास किया कि आज भी भाजपा उनके लिए पहली पसंद क्यों हो सकती है।


समाजसेवी चंद्रशेखर प्रसाद सिंह बनाए गए 'विश्व क्षत्रिय परिषद' के राष्ट्रीय संगठन सचिव

बिहार के प्रसिद्ध समाजसेवी चंद्रशेखर प्रसाद सिंह को एक और बड़ी जिम्मेदारी मिल गई है। उनकी सामाज के प्रति सक्रियता व सेवा भावना को देखते हुए विश्व क्षत्रिय परिषद ने उन्हें राष्ट्रीय संगठन सचिव नियुक्त किया है।

पटना: बिहार के प्रसिद्ध समाजसेवी चंद्रशेखर प्रसाद सिंह को एक और बड़ी जिम्मेदारी मिल गई है। उनकी सामाज के प्रति सक्रियता व सेवा भावना को देखते हुए विश्व क्षत्रिय परिषद ने उन्हें राष्ट्रीय संगठन सचिव नियुक्त किया है।

संगठन के उपाध्यक्ष हरी सिंह ने समाजसेवी चंद्रशेखर प्रसाद सिंह को विश्व क्षत्रिय परिषद में दी गई जिम्मेदारी को अपने फेसबुक वाल पर साझा करते हुए लिखा, 'दोस्तों नमस्कार! विश्व क्षत्रिय परिषद परिवार में आज एक महत्वपूर्ण नियुक्ति श्री प्रो. चन्द्रशेखर सिंह जी, की राष्ट्रीय संगठन सचिव के लिए हुईं हैं आप बिहार प्रदेश से जाने माने समाज सेवी एवंप्रविख्यात गणितज्ञ है, आशा है आप हमेशा की तरह क्षत्रिय समाज के हितों को लेकर अग्रणी भूमिका में रहेंगे ।